Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्लीः जून में मिलेगी कूड़े से बनी बिजली, फैलने वाली बदबू का होगा निपटान

संयंत्र में रोजाना लगभग 1300 मिट्रिक टन कूड़े से बिजली बनाई जाएगी।

दिल्लीः जून में मिलेगी कूड़े से बनी बिजली, फैलने वाली बदबू का होगा निपटान
नई दिल्ली. उत्तरी दिल्ली निगम द्वारा स्थापित नरेला-बवाना में कूड़े से बिजली बनाने का संयंत्र अगले माह से काम करने लगेगा। इस संयंत्र में आने वाले कूड़े से जहां रोजाना 24 मेगावॉट बिजली बनेगी वहीं दूर दूर तक फैलने वाली बदबू और कूड़े का पहाड़ भी नहीं बनेगा।
संयंत्र में रोजाना लगभग 1300 मिट्रिक टन कूड़े से बिजली बनाई जाएगी। नरेला-बवाना सेनेटरी लैण्डफिल स्थल पर बने संयंत्र का बृहस्पतिवार को उत्तरी दिल्ली के महापौर डा. संजीव नैयर, स्थायी समिति के अध्यक्ष मोहन प्रसाद भारद्वाज, सदन के नेता विजय प्रकाश पाण्डेय, प्रवेश वाही, निगमायुक्त प्रवीण गुप्ता तथा अन्य विभागों के उच्चाधिकारियों ने संयुक्त रूप से दौरा किया।
अध्यक्ष स्थायी समिति मोहन प्रसाद भारद्वाज ने बताया कि यह प्लांट प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत मिशन तथा शहर के कूड़े के समूचित निपटान की दिशा में अत्यन्त महत्वपूर्ण है। उन्होंने बताया कि नरेला-बवाना सैनेटरी लैण्डफिल साइट को पूर्णत: आधुनिक रूप में विकसित किया गया है जिसमें कूड़े से वातावरण को किसी भी प्रकार की हानि से बचाये रखने की पूरी सावधानियां बरती गई हैं।
उन्होंने बताया कि प्लांट के प्रारम्भ होने से लगभग यहां पर निपटाए गए कूड़े का 80 से 85 प्रतिशत कूड़ा पूरी तरह से निपटाया जा सकेगा जिससे खाद व बिजली बनाई जाएगी जोकि ठोस कूड़े के प्रबन्धन में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह परियोजना निगम के साथ रामकी ठोस कूड़ा प्रबन्धन कंपनी के सहयोग से भागीदारी में कार्यान्वित किया है।
परियोजना के अध्यक्ष डी.बी.एस.एस.आर. शास्त्री ने बताया कि इस परियोजना को प्रारम्भ करने के लिए दिल्ली के प्रदूषण नियंत्रण समिति को आवेदन कर दिया है। उन्हें आशा है कि शीघ्र ही इसकी अनुमति प्राप्त हो जाएगी और वे इस परियोजना का शुभारम्भ कर दिल्ली के नागरिकों के हित में प्रारम्भ कर देंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top