Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एक और निर्भयाः फुटपाथ पर सो रही सात महीने की गर्भवती से गैंगरेप

पीड़िता ने अस्पताल में बच्चे को दिया जन्म

एक और निर्भयाः फुटपाथ पर सो रही सात महीने की गर्भवती से गैंगरेप
नई दिल्ली. दिल्ली कहावतों में दिल वालों की है लेकिन इसी दिल्ली को एक और उपनाम मिल चुका है वो है 'रेप केपिटल' और इसी बात को साबित कर रहे हैं दिल्ली के ही कुछ दरिंदे। निर्भया गैंगरेप ने एक बार जहां पूरी दिल्ली को ऐसे दरिंदों के खिलाफ एकजुट कर दिया था, तब लगा था जैसे शायद अब दिल्ली में इस तरह की दुखद घटना फिर कभी नहीं घटेगी। लेकिन ये एक बड़ी गलतफहमी के अलावा कुछ और नहीं है।
उसी तरह की दरिंदगी एक बार फिर दिल्ली में हुई है। दिल्ली के पांडव नगर में फुटपाथ पर रहने वाली एक किशोरी से गैंगरेप हुआ है और उसके बेबस हालात में तड़पता हुआ छोड़ दिया गया। पुलिस ने जब इस किशोरी को अस्पताल पहुंचाया तो डॉक्टरों ने बताया कि यह साढे सात माह के गर्भ से है।
इस दरिंदगी के पीछे कौन-कौन शामिल हैं इसके बारे में पुलिस पता लगा रही है। पीड़िता भी पुलिस को इनके बारे में ज्यादा कुछ नहीं बता पाई है। पीड़िता ने अस्पताल में एक बच्चे को जन्म दिया।
इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गैंग रेप के आरोप में अरेस्ट किया है। डीसीपी (ईस्ट) ओमवीर सिंह ने दो आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि एक आरोपी का नाम बिट्टू है। पांडव नगर पुलिस मामले की जांच कर रही है।
इस केस में एक तरफ जहां किशोरी को अमानवीय हालात सहने पड़े, वहीं दूसरी ओर पुलिस का मानवीय पक्ष भी उभरा है। डीसीपी के अनुसार, किशोरी फुटपाथ पर गुजर-बसर करती थी। उसी दौरान आरोपियों ने उससे रेप किया। उसके बाद मरने के लिए छोड़ दिया। वह पुलिस की पट्रोलिंग टीम को रोड पर तड़पती मिली। पुलिस ने पहले उसका इलाज करवाया। इलाज के दौरान उसके मुंह से सिर्फ एक विक्की नाम निकला था, उसकी बिनाह पर ही पुलिस आरोपियों तक पहुंची। किशोरी और उसके बच्चे की हालत ठीक है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top