Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धुंध से घुट रहा दिल्ली का दम, पहले से अधिक प्रदूषण का स्तर

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर 42 गुना से भी ज्यादा पहुंच गया है।

धुंध से घुट रहा दिल्ली का दम, पहले से अधिक प्रदूषण का स्तर
नई दिल्ली. राजधानी में दिवाली के बाद वायु प्रदूषण गंभीर स्तर तक पहुंच चुका है। जिसमें खतरनाक जहरीली गैसों और सांस में मिल जाने वाले धूल कणों का कम तापमान और नाम मात्र चल रही हवा से संगम हो गया है, जिस वजह से प्रदूषित कण सतह के बिल्कुल करीब है और आसानी से सांस में शामिल हो रहे हैं। बारीक धूल कण सबसे खतरनाक प्रदूषित कण होते हैं जो कि शहर के विभिन्न इलाकों में 999 माईक्रोग्राम के साथ खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है, जो कि डब्ल्यूएचओ के प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा घोषित 60 माईक्रोग्राम के मापदंड से कहीं गुना ज्यादा है।
एयर क्वालिटी एक्रास सफर के मुताबिक, पीएम 2.5 का स्तर 522 और पीएम 10 का 348 तक पहुंच चुका है। चिकित्सकों का मानना है कि आने वाले दिनों में सांस और दिल की समस्याएं बढ़ेंगी। बारीक धूल कण फेफड़ों में सोख लिए जाते हैं और सकुर्लेशन में शामिल हो जाते हैं। इससे फ्री रेडिकल्ज, कोलोस्ट्र जमाव में बढ़ोतरी होती है और हार्ट अटैक, स्ट्रोक और हाईपरटैंशन का कारण बनते हैं।
बारीक धूल कणों के हर 6 अंक बढ़ने पर थोड़े समय के लिए इनके संपर्क में आने से गंभीर कोरोनरी इस्केमिक विकार दिल की धड़कन में गड़बड़ी होने का खतरा 26 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इतना ज्यादा प्रदूषण स्तर से तो एंडोथेलियल डिस्फंक्शन, खून का गाढ़ा होना और दो घंटे तक रहने से आर्टियल फिब्रिलेशन तक हो सकता है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top