Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नहीं रहे स्वतंत्र भारत के पहले बॉडी बिल्‍डर मनोहर ऐच, 104 साल की उम्र में हुआ निधन

मनोहर तीन बार एशियन गेम्‍स में बॉडी बिल्डिंग का गोल्‍ड मेडल भी जीते चुके हैं।

नहीं रहे स्वतंत्र भारत के पहले बॉडी बिल्‍डर मनोहर ऐच, 104 साल की उम्र में हुआ निधन
नई दिल्ली. मिस्‍टर यूनिवर्स का खिताब जीतने वाले स्‍वतंत्र भारत के पहले बॉडी बिल्‍डर मनोहर ऐच का 104 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। सिर्फ 4 फीट 11 इंच के कद वाले मनोहर को दुनिया ने पॉकेट हरक्‍यूलिस नाम दिया था। भारत के पहले मिस्टर यूनिवर्स बनने वाले 104 साल के बॉडी बिल्डर मनोहर ऐच का रविवार को कोलकाता स्थित उनके निवास पर निधन हो गया। पारिवारिक सू़त्रों ने इसकी जानकारी दी। वह 1952 में मिस्टर यूनिवर्स बने थे जिसके बाद उनका नाम बंगाल में मशहूर हो गया था।
उनके पुत्र खोकन ऐच ने कहा कि वह पिछले 10 से 15 दिनों से तरल भोजन ले रहे थे और उन्होंने बातचीत करना बंद कर दिया था। उन्होंने तीन बजकर 50 मिनट पर अंतिम सांस ली। मनोहर के परिवार में दो बेटे और दो बेटियां हैं। उनका एक बेटा अपने पिता के युवाओं को ‘स्वस्थ और मजबूत’ बनाने के सपने को साकार करने के लिये एक जिम और फिटनेस सेंटर चलाता है।
मनोहर ने पहले बार 1951 की मिस्‍टर यूनिवर्स प्रतियोगिता में हिस्‍सा लिया जिसमें वो दूसरे पायदान पर रहे। अगले साल उन्‍होंने मिस्‍टर यूनिवर्स का खिताब जीतकर इतिहास रच दिया। मनोहर ने 1955 में फिर मिस्‍टर यूनिवर्स प्रतियोगिता में हिस्‍सा लिया और तीसरे पायदान पर रहे। चौथी बार 1960 में उन्‍होंने चौथी पोजिशन हासिल की। उस समय उनकी उम्र 47 साल थी।
खोकन ने कहा कि वह हमेशा कहते थे कि कभी भी एक्सरसाइज मत छोड़ो। उनका स्वस्थ रहने का सरल मंत्र था स्वास्थ्यवर्धक भोजन करना और एक्सरसाइज। राज्य के खेल मंत्री और बंगाल क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान लक्ष्मी रतन शुक्ला शोक व्यक्त करने के लिये मनोहर के निवास पर पहुंचे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top