Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली यूनिवर्सिटी की दूसरी कट ऑफ आउट

बड़ेे कॉलेजों में अभी भी है दाखिले की उम्मीद।

दिल्ली यूनिवर्सिटी की दूसरी कट ऑफ आउट
नई दिल्ली. दिल्ली यूनिवर्सिटी ने कॉलेजोंं में दाखिले की दूसरी कट ऑफ लिस्ट सोमवार रात जारी कर दी है। छात्रों के पास आर्ट और साइंस के लिए अभी भी टॉप कॉलेजों में दाखिला लेने के मौके हैं। इस साल ज्यादातर विषयों की कट ऑफ में 0.25 से 1.5 प्रतिशत की गिरावट देखी गई है और छात्रों के लिेए अभी भी बड़े कॉलेजों में मुख्य विषयों में सीटें बची हुई हैं।
ऑफ केम्पस कॉलेजों मे भी छात्रों की भीड़
इस साल दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिलोंं को लेकर एक अलग माहौल देखा गया। बता दें कि छात्र कॉलेज पर न ध्यान देकर उन्होंने किसी भी कॉलेज में दाखिला मिलने को अहम समझा। अगर बात करें खालसा कॉलेज की तो इसकी कट ऑफ में इस साल भारी गिरावट देखी गई है। अंकोंं की यह गिरावट बीए ऑनर्स (पंजाबी) में देखी गई है। फिर भी कॉलेज में दाखिले के लिए छात्रों की भीड़ उमड़कर आ रही है। ऑफ केम्पस कॉलेज जिनमें देशबंधु, भारती कॉलेज, श्यामा प्रसाद कॉलेज में कई विषयों के लिए दाखिले बंद हो चुके हैं, जिससे साफ जाहिर होता है कि छात्रों के लिए कॉलेज में दाखिला लेना पहली प्राथमिकता है भले ही वो कॉलेज ऑफ केम्पस का ही क्यों न हो।

साइंस विषय में सीट मिलना मुश्किल
साइंस के विषयों में आर्ट और कॉमर्स के मुकाबले लगभग सभी कालेजों में दाखिले हो चुके हैं। उदाहरणत: दिल्ली के गर्ल्स कॉलेज दौलत राम में बायोमेडिकल साइंस और ज्योलॉजी के लिए दाखिले बंद हो चुके हैं। वहीं नार्थ केम्पस के रामजस कॉलेज में भी ज्योलॉजी और लाइफ साइंस के लिए दाखिले के लिए कोई सीट नहीं बची है।
बी.कॉम ऑनर्स के लिए खुले हैं अभी भी बड़े कॉलेजों के दरवाजे
इंडियन एक्सप्रैस की खबर के मुताबिक, बी.कॉम आनर्स के लिए अभी भी सीटें बची हैं। बता दें कि इनमें लेडी श्रीराम कॉलेज, हिंदू कॉलेज और आइपी कॉलेज जहां अभी भी छात्रों की बी.कॉम ऑनर्स में दाखिला लेने की उम्मीद बाकी है। वहीं, दिल्ली के किरोड़ी मल, मिरांडा हाउस, रामजस और लेडी श्रीराम कॉलेज में इकोनॉमिक्स और इंग्लिश के कोर्स के लिेए छात्रों के पास दाखिला लेने के मौके हैं। इतिहास विषय में रामजस, खालसा, वेंकटेश्वर, मिरांडा और लेडी श्रीराम कॉलेजों में छात्रों के लिए अभी भी दाखिला लेने के मौके हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top