Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्लीः टूटा था दांया पैर, ऑपरेशन कर दिया बांया का

फोर्टिस अस्पताल की इस लापरवाही के लिए ईलाज करने वाले डॉक्टर सहित पांच लोगों को बर्खास्त कर दिया गया है

दिल्लीः टूटा था दांया पैर, ऑपरेशन कर दिया बांया का
X

नई दिल्ली. शालीमार बाग में स्थित जाने-माने फोर्टिस अस्पताल में एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। इस प्राइवेट हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने एक 24 साल के युवक की दाएं पैर की जगह बाएं पैर का ऑपरेशन कर दिया। जिसमें बुधवार को दो आर्थोपेडिक सर्जन, दो नर्सों और ऑपरेशन टेक्नीशियन को बर्खास्त कर दिया गया।

पीड़ित का नाम रवि राय है जो दिल्ली के अशोक विहार का रहने वाला है। रवि ने बताया कि रविवार को सीढ़ियों से गिरने की वजह से दाएं पैर में चोट लग गयी थी। जिसके बाद उसे फोर्टिस हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां बताया गया कि दाहिने पैर में फ्रैक्चर है। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने की सलाह दी लेकिन डॉक्टरों की लापरवाही का आलम यह है कि इन्होने दाहिने पैर की जगह बाएं पैर का ऑपरेशन कर डाला। रवि राय के मुताबिक उसे लोकल एनस्थीसिया दिया गया था, इसलिए उसे ऑपरेशन के कई घंटे बाद पता चला कि उसके बाएं पैर में स्क्रू डाल दिए गए हैं।
डॉक्टरों की लापरवाही से नाराज परिवार वालों ने पुलिस को इस घटना की सूचना दी। पुलिस के आने के बाद खुद को फंसता देख अस्पताल प्रशासन ने फिलहाल अपनी गलती कबूल कर ली और कहा मरीजों की सुरक्षा ही हमारी पहली प्राथमिकता है। हम इस मामले को लेकर बेहद गंभीर हैं। डॉक्टरों ने यह भी कहा कि यह हमारी समझ से बाहर है कि आखिर गलत सर्जरी कैसे हो गयी। हॉस्पिटल ने अपने बयान में यह भी कहा कि इस घटना के बाद हमने तुरंत इस मामले की जांच के लिए एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया और इस लापरवाही के लिए डॉक्टर सहित पांच लोगों को बर्खास्त भी कर दिया गया है। फिलहाल कुछ अन्य लोगों पर खिलाफ कार्यवाई पर भी विचार किया जा रहा है।
रवि राय के पिता राम करण राय का कहना है कि यह चिकित्सा लापरवाही का मामला है और डॉक्टरों को इस बड़ी लापरवाही के लिए कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इतनी बड़ी लापरवाही होने के बाद रवि के परिवार वालों ने फोर्टिस अस्पताल से इलाज न कराकर ऑपरेशन के लिए रवि को शालिमार बाग में स्थित मैक्स हॉस्पिटल ले गये।
इंडिया टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक हॉस्पिटल के एसोसियेट डायरेक्टर, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. पलास गुप्ता ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत पर बताया कि यह लापरवाही एक चिंता का विषय है। यह सर्जरी के लिए असावधानी को दर्शाता है। हमें सबसे पहले पैर में लगे हुए स्क्रु को हटाना होगा। उसके बाद एक्स रे के माध्यम से पैर में स्क्रु को फिट किया जाएगा।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story