Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

DND फ्लाईवे हुआ टोल फ्री, HC ने कहा- लागत से ज्यादा वसूली हुई

इस फ्लाईओवर को टोल फ्री कराने की मुहिम लंबे अर्से से चल रही थी।

DND फ्लाईवे हुआ टोल फ्री, HC ने कहा- लागत से ज्यादा वसूली हुई
नई दिल्ली. दिल्ली-एनसीआर के नागरिकों के लिए बड़ी खुशखबरी की खबर है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने दिल्ली से नोएडा को जोड़ने वाले डीएनडी फ्लाईओवर को तत्काल प्रभाव से टोल फ्री करने का आदेश दिया है। रोजाना दिल्ली और नोएडा के बीच हजारों गाड़ियां इस फ्लाईओवर से गुजरती हैं। इस फ्लाईओवर को टोल फ्री कराने की मुहिम लंबे अर्से से चल रही थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस बाबत स्पष्ट निर्देश दिया है। यह फैसला तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। वहां डीएनडी पर बिना रुकावट लोग आवाजाही कर सकेंगे। इस मामले में अदालत ने आठ अगस्त को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।
भविष्य में कभी भी टोल नहीं लगेगा
जस्टिस अरुण टंडन और जस्टिस सुनीता अग्रवाल की डिवीजन बेंच ने कहा है कि डीएनडी पर भविष्य में कभी भी टोल नहीं लगेगा। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हाईकोर्ट इस मामले की सुनवाई रोजाना सुनवाई कर रही थी।
लंबे अर्से से इस पर कोई फैसला नहीं
इस फ्लाईओवर से रोजाना गुजरनेवालों की मांग थी कि इसे टोल फ्री कर दिया जाए। लेकिन लंबे अर्से से इस पर कोई फैसला नहीं हो पाया था। बाद में मामला हाईकोर्ट में गया। हाईकोर्ट ने तत्काल प्रभाव से इस फ्लाईओवर को टोल फ्री करने का आदेश दिया है। लगभग 80 सुनवाई के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 26 अक्‍टूबर यानि बुधवार को अपना अंतिम निर्णय दिया है।
नोएडा प्राधिकरण व नोएडा टोल ब्रिज कंपनी के बीच समझौता
इससे पहले इसको बनाने के लिए नोएडा प्राधिकरण व नोएडा टोल ब्रिज कंपनी के बीच समझौता हुआ था। इस समझौते में 20 प्रतिशत मुनाफे सहित कई ऐसे बिंदु हैं जो सीधे तौर पर कंपनी को फायदा पहुंचा रहे हैं। एसोसिएशन ने इस समझौते को समाप्त कर डीएनडी को टोल फ्री करने और टोल वसूलने पर भी रोक लगाने की मांग की थी।
26 अप्रैल 2016 को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया
इलाहाबाद हाइकोर्ट में सुनवाई धीमी गति से चलने पर फोनरवा ने 26 अप्रैल 2016 को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर की पीठ ने जनहित से जुड़े इस मुद्दे पर तेजी दिखाते हुए 30 जून 2016 को हाईकोर्ट को तीन महीने के अंदर फैसला सुनाने का आदेश दिया था। इस फ्लाईओवर के निर्माण में 407 करोड़ की लागत आई थी और उस वक्त इस फ्लाईओवर का निर्माण करनेवाली कंपनी को टोल टैक्स वसूलने की जिम्मेदारी दी गई थी।
टोल टैक्स से अबतक 2200 करोड़ रुपए वसूले जा चुके
हाईकोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया था कि टोल टैक्स से अबतक 2200 करोड़ रुपए वसूले जा चुके हैं। जो कि लागत से कई गुना ज्यादा रकम है। कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई के दौरान कहा कि अगर ऐसा ही रहा तो अगले 100 साल तक भी कंपनी यही कहेगी कि वो अबतक लागत नहीं वसूल पाई है। कोर्ट ने तत्काल प्रभाव से फ्लाईओवर को टोल फ्री करने का आदेश जारी कर दिया।
वर्ष 2001 में डीएनडी पर वाहनों का संचालन शुरू हुआ था
नोएडा रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन ने 16 नवंबर 2012 को डीएनडी को टोल फ्री करने की याचिका हाईकोर्ट में दाखिल की थी। एसोसिएशन के वकील रंजीत सक्‍सेना ने बताया कि जस्टिस अरुण टंडन और जस्टिस श्रीमति सुनीता अग्रवाल की पीठ ने इस याचिका पर अपना अंतिम फैसला सुनाया। वर्ष 2001 में डीएनडी पर वाहनों का संचालन शुरू हुआ था।
फ्लाईओवर पर बाइक से गुजरने वालों को 12 रुपए और कार वालों को 28 रुपए टोल टैक्स देने होते थे। इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश के बाद अब इन्हें फ्लाईओवर से गुजरने के लिए कोई टोल टैक्स नहीं देना पड़ेगा।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top