Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

मेट्रो में लड़कियां ले जा सकती हैं चाकू, लड़कों में खौफ

दिल्‍ली मेट्रो में हर दिन करीब 30 लाख यात्री सफर करते हैं

मेट्रो में लड़कियां ले जा सकती हैं चाकू, लड़कों में खौफ
X
नई दिल्ली. महिलाओं की सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए, दिल्‍ली मेट्रो में महिलाओं को चाकू ले जाने की इजाजत दी गई है। दिल्‍ली मेट्रो कॉर्पोरेशन ने शुक्रवार को इस बारे में निर्देश जारी किए हैं। इसके अनुसार, महिलाओं 4 इंच तक लंबा चाकू ले जा सकती हैं, मगर अधिकारियों को यह अधिकार दिए गए हैं कि वह यात्री को एंट्री से रोक सकते हैं अगर उन्‍हें सुरक्षा को लेकर किसी खतरे का अंदेशा हो।
सीआइएसफ ने ट्रेनों में लाइटर्स और माचिस ले जाने की छूट भी दे दी है। बताया जाता है कि शास्‍त्री पार्क स्थित सीआइएसएफ डिपो में हजारों प्रतिबंधित मैटेरियल इकट्ठा हो जाने के बाद यह फैसला लिया गया। आदेश में कहा गया है कि मेट्रो में दैनिक मजदूर अपने कामकाजी उपकरण लेकर जा सकते हैं। दिल्‍ली मेट्रो में हर दिन करीब 30 लाख यात्री सफर करते हैं। महिलाओं को चाकू ले जाने की इजाजत देने से आत्‍म-रक्षा में मदद मिलने की बात कही जा रही है।
लेकिन जब हमने इस पर आम लोगों से बात की तो लड़कों ने इसे मेट्रो द्वारा लिया गया गलत फैसला बता रहे हैं। लोगों का मानना है इस फैसले से लड़कों की जान का खतरा है। कई बार लड़कियां अपना आप-खोकर मामूली-सी बात पर भी उनपर इससे जानलेवा अटैक कर सकती हैं। रोहित नामक एक युवा का कहना है कि लाइटर और माचिस तक तो ठीक है लेकिन चाकू लेकर जाने की इजाजत देना खतरनाक साबित हो सकता है।
उनका कहना है कि मेट्रो को सुरक्षा के मद्देनजर लड़कियों को सस्ते में पेपर स्प्रे देना चाहिए, ताकि वो अपनी आत्मरक्षा कर सकें। साख ही मेट्रो में माचिस और लाइटर का उपयोग ही नहीं है और इससे किसी प्रकार की आत्मरक्षा नहीं हो पाती है। ऐसे डीएमआरसी को एक बार फिर से अपने इस फैसले पर विचार करना चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story