Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब आपके दरवाजे पर दस्तक देगा बीट अफसर, बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए कसी कमर

इस अभियान के तहत दिल्ली पुलिस का बीट अफसर ''मेय आई हेल्प यू'' वाले कार्ड लेकर बुजुर्गों के पास जाएगा

अब आपके दरवाजे पर दस्तक देगा बीट अफसर, बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए कसी कमर
नई दिल्ली. अब तक आपने, अपने दरवाजे पर बैग टांगे मार्केटिंग एक्जीक्यूटिव को दस्तक देते हुए कई बार देखा होगा, लेकिन अब आपके दरवाजे पर दस्तक देने वाला बीट अफसर होगा। साथ में वह अपने हाथ में मेय आई हेल्प यू के विजिटिंग कार्ड लिए होगा।
दरअसल इसका मकसद है कि घरों में रहने वाले बुजुर्ग लोगों तक बीट अफसर की सीधे पहुंच हो और यह लोग भी किसी भी अप्रिय स्थिति में जरूरत पड़ने पर अपने बीट अफसर को सीधे फोन कर जानकारी दे सकें। दिल्ली पुलिस की यह स्पेशल ड्राइव फिलहाल मध्य जिले में शुरू कर दी गई है।
मध्य जिले के डीसीपी परमादित्य के मुताबिक त्यौहारों के माहौल को ध्यान में रखते हुए जिले में चलाए जा रहे इस स्पेशल ड्राइव के तहत बीट अफसरों को मेय आई हेल्प यू वाले करीब तीन लाख विजिटिंग कार्ड मुहैया कराये गए हैं।
कई बार देखा जाता है कि लोग, खासकर घरों में अकेले रहने वाली महिलाओं और बुजुर्ग नागरिकों को अपने इलाके के बीट अफसर के बारे में जानकारी नहीं होती, इस अभियान के तहत बीट अफसर मेय आई हेल्प यू वाले कार्ड लेकर लोगों के पास जाता है।
डीसीपी के मुताबिक बीट अफसरों को दिए इन विजिटिंग कार्ड में इलाके की बीट से जुड़े अफसर का नाम, मोबाइल नंबर और कुछ इमरजेंसी नंबरों के अलावा सावधानी बरतने संबंधी सुझाव लिखे गए हैं। इस ड्राइव का एक और उद्देश्य यह भी है कि महिलाओं और बुजुर्ग नागरिकों में पुलिस के प्रति भरोसा पैदा किया जाए।
इस ड्राइव के तहत अब तक जिले भर में बीट अफसरों को दिए गए तीन लाख कार्ड वितरित किए जा चुके हैं। जिले के सभी एसएचओ को हिदायत दी गई है कि समय समय पर बीट अफसरों के काम को चेक करने के लिए अफसर रिहायशी इलाकों में घूमे और लोगों से मिलकर इस अभियान से जुड़े फीड बैक इकठ्ठा करें, ताकि सीनियर अफसरों को भी यह पता रहे कि बीट अफसर इलाके में काम भी कर रहे हैं या नहीं।
बीट अफसर नहीं दे पाएंगे कोई गच्चा
पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, विजिटिंग कार्ड दिए जाने का एक और फायदा यह भी होगा कि बीट अफसर ड्यूटी को लेकर अब अपने अफसरों को कोई गच्चा नहीं दे सकेंगे। क्यूंकि एसएचओ के दौरे के समय बुजुर्ग से मिलने के दौरान उनके पास बीट अफसर द्वारा दिया गया कार्ड देखने के लिए एसएचओ भी जाएंगे।
इमरजेंसी में काम आएगा विजिटिंग कार्ड
अधिकारी के अनुसार, घरों में अकेले रहने वाले बुजुर्गों के लिए यह कार्ड कई मौकों पर खासे कारगर साबित होंगे। अकेले घरों में रहने वाले कई बार कुछ इस तरह के मामले भी सामने आते हैं जैसे कि उनका दूध वाला नहीं आया है,पानी की मोटर खराब है या फिर कई बार किसी कमरे का लॉक खुद ब खुद लग जाने से वह अंदर ही फंस गए या फिर कई बार कोई अप्रिय हादसा होने पर बीट अफसर या फिर दूसरे महत्व पूर्ण नंबर खासे कारगर साबित होंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top