Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बड़े ही भुलक्कड़ में मेट्रो के यात्री, भूल जाते हैं अपना कीमती सामान

हर दिन औसतन 30 लाख यात्री मेट्रो में सफर करते हैं।

बड़े ही भुलक्कड़ में मेट्रो के यात्री, भूल जाते हैं अपना कीमती सामान
नई दिल्ली. दिल्ली मेट्रो में सफर करने वाले यात्री बड़े ही भुलक्कड़ हैं। कोई नोटों से भरा बैग छोड़कर चला जाता है तो कोई अपना महंगा सामान। ऐसा नहीं है कि केवल भारतीय ही मेट्रो में सामान छोड़कर चले जाते हैं। आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि गत छह-सात माह में 12506 विदेशी मुद्रा भी मेट्रो प्रशासन को सौंपा गया है, जो सीआईएसएफ के जवानों ने समय-समय पर मेट्रो में लवारिस मिलने पर जमा कराई थी। हालांकि इसके लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने लॉस्ट एंड फाउंड विभाग की व्यवस्था की हुई है, जहां मिलने वाली वस्तुओं को संभाल कर रखा जाता है।
डीएमआरसी के एक अधिकारी के अनुसार हर दिन औसतन 30 लाख यात्री मेट्रो में सफर करते हैं। अकसर देखा जाता है कि कुछ यात्री यात्रा के वक्त जल्दी में या फिर भूलवश अपना महंगा सामान या फिर रुपयों से भरा बैग ट्रेन के अंदर या फिर परिसर में छोड़कर चले जाते हैं। सुरक्षा में तैनात सीआईएसएफ के जवानों की नजर जब इन इन सामानों पर पड़ती है तो उन सामानों को कश्मीरी गेट स्थित लॉस्ट एंड फाउंड डिपार्टमेंट में जमा करवा दिया जाता है। जब यात्री मेट्रो प्रशासन से संपर्क करते हैं तो छानबीन कर सामान को सकुशल लौटा दिया जाता है।
यहां करें संपर्क
अधिकारी ने बताया कि डीएमआरसी ने यात्रियों की सुविधा के लिए हेल्पलाइन नंबर की व्यवस्था की हुई है। मोबाइल नंबर-8527405555 और टेलीफोन नंबर-011-23860837 पर फोन कर यात्री कश्मीरी गेट स्थित लोस्ट एंड फाउंड विभाग से जानकारी ले सकते हैं। इसके साथ ही डीएमआरसी के वेबसाइट पर भी खोए हुए सामान की पूरी जानकारी उपलब्ध है।
क्या-क्या मिला
आंकड़ों पर नजर डालें तो गत छह-सात माह में सीआईएसएफ के जवानों को नकदी, विदेशी मुद्रा, लैपटॉप, सोने के आभूषण, मोबाइल फोन के अलावा अन्य महंगे सामान मिले हैं, जिन्हें बाद में उन यात्रियों को लौटा दिया जाता है, जो डीएमआरसी प्रशासन से संपर्क करते हैं।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top