Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर गेस्ट टीचर्स का हल्ला बोल

''दिल्ली में स्थायी शिक्षकों को जितनी तनख्वा दी जाती है उसका करीब 25 फीसदी वेतन भी इन गेस्ट टीचर्स को नहीं मिल पाता।''

शिक्षामंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर गेस्ट टीचर्स का हल्ला बोल
नई दिल्ली. अतिथि शिक्षकों ने स्थायी नियुक्ति की मांग को लेकर शनिवार को उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास के बाहर प्रदर्शन किया।
दिल्ली अतिथि शिक्षक संघ द्वारा जारी वक्तव्य में कहा गया, 'हमारी मांगों में खाली पदों पर अतिथि शिक्षकों की स्थायी नियुक्ति, निर्धारित वेतन पर फैसला और तबादला या किसी अन्य कारण से पूर्व में हटाए गए किसी अतिथि शिक्षक की फिर से नियुक्ति शामिल है।'
वक्तव्य में कहा गया, 'हमने दो महीने पहले अपनी मांगों को लेकर मनीष सिसोदिया से मुलाकात की थी और उन्होंने हमें उनके मुद्दों पर गौर करने का आश्वासन दिया था, लेकिन अब तक कुछ नहीं हुआ है। इसलिए हमने अपने-अपने स्कूलों में कक्षाओं का बहिष्कार करने का फैसला किया है।'
इसके अलावा गेस्ट टीचर्स ने जंतर-मतंर पर दिए धरना देकर लोगों को अपनी समस्याओं से अवगत करवाया। गेस्ट टीचर्स ने बताया कि सरकारी स्कूलों में गेस्ट टीचर्स से काम तो अव्वल दर्जे का मांगा जाता है, लेकिन सुविधाओं के नाम पर उन्हें बेहद निम्न श्रेणी में रखा जाता है।
यहां तक कि छुट्टियों, वेतन और अन्य सुविधाओं के नाम पर उनकी भावनाओं के साथ दिल्ली सरकार खिलवाड़ कर रही है। बताते चलें कि दिल्ली में स्थायी शिक्षकों को जितनी तनख्वा दी जाती है उसका करीब 25 फीसदी वेतन भी इन गेस्ट टीचर्स को नहीं मिल पाता।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top