Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

एम्स के तर्ज पर होंगे पांच एमएस, सुधरेंगे दिल्ली के अस्पताल-बेहतर होगा इलाज

नॉन-क्लीनिकल काम नहीं करेंगे डॉक्टर
दिल्ली में डॉक्टरों से 100 फीसदी काम लेने के लिए उन्हें अस्पतालों के सभी नोन-क्लीनिकल काम से मुक्त कर दिया गया है। दवाईयां, यंत्र सहित अन्य सभी प्रकार की खरीद व अन्य को सेंट्रलाइज्ड कर (आउटसोसिंग के माध्यम से) डॉक्टरों को केवल स्वास्थ्य सुविधाओं में लाने की कोशिश की गई है। अभी 30-40 फीसदी डॉक्टर नोन-क्लीनिकल काम कर रहे हैं। इन्हें जल्द क्लीनिकल काम के लिए जोड़ दिया जाएगा। इसलिए अलग से एस्टेट मैनेजर एमबीए लगाए जाएंगे।
Next Story