Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अभी CNG युक्त होकर प्रदूषण मुक्त हुई थी दिल्ली, क्या चक्कर है कोई फिरकी तो नहीं ले रहा?

एनजीटी ने फॉर्मूले पर उठाया सवाल, कहा इससे कोई मक़सद हासिल नहीं होने वाला

अभी CNG युक्त होकर प्रदूषण मुक्त हुई थी दिल्ली, क्या चक्कर है कोई फिरकी तो नहीं ले रहा?
नई दिल्ली. दिल्ली में बढ़ रहे प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए राज्य सरकार ने 'ऑड-ईवन फॉर्मूला' तैयार किया है, लेकिन दिल्ली सरकार के इस नए फॉर्मूले को लेकर जनता ने तरह-तरह के सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं।
दरअसल, जनता दिल्ली सरकार के इस फैसले से संतुष्ट नहीं नजर आ रही है। इसका पता लगाने के लिए हरिभूमि डॉटकॉम की टीम ने सोशल मीडिया का सहारा लिया है। बता दें कि लोगों ने ऑड-ईवन' फॉर्मूले को सीरे से नकारा है। इनका कहना है कि दिल्ली को प्रदूषण मुक्त करने के लिए सरकार की तरफ से पहले सीएनजी प्रोग्राम शुरू किया गया था।
कई विशेषज्ञों का कहना है कि इससे आम जनता को खासी समस्या झेलनी पड़ सकती है। केवल यही नहीं सोशल मीडिया पर आई कई पोस्ट में ऑड-ईवन' फॉर्मूला पर लोगों ने चुटकी भी ली। प्रदूषण मूक्त दिल्ली के इस नए कानून को लेकर एक पोस्ट में सवाल किया गया कि 'क्या चक्कर है कोई फिरकी तो नहीं ले रहा है?'
वहीं दूसरी ओर शुक्रवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दिल्ली सरकार के इस फैसले पर कड़ा रुख दिखाया है। ट्रिब्यूनल ने तर्क दिया कि ऐसे में लोग नई गाड़ियां खरीद सकते हैं।
साथ ही उन्होंने कहा कि कार के अलावा सड़कों पर बसें भी चलती हैं और एक बस 15 कारों के बराबर प्रदूषण फैलाती है। एनजीटी ने फार्मूले पर सवाल उठाते हुए दिल्ली सरकार से कहा कि इससे हमें कोई मकसद हासिल नहीं होने वाला है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top