Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

''आप'' सरकार ने जनलोकपाल विधेयक को दी मंजूरी

मनीष सिसोदिया ने बताया कि 18 नवंबर से शुरू होने जा रहे विधानसभा सत्र में जनलोकपाल बिल को प्रस्तुत किया जाएगा

नई दिल्ली. सरकारी तंत्र में फैले भ्रष्टाचार के सफाए के लिए दिल्ली सरकार ने बुधवार को जनलोकपाल विधेयक को मंजूरी दे दी। सरकार ने दावा किया कि जनलोकपाल ठीक उसी तरह का होगा जैसा मशहूर अन्ना आंदोलन के दौरान प्रस्ताव किया गया था। दिल्ली सरकार जल्द ही जनलोकपाल विधेयक विधानसभा में पेश करेगी।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि 18 नवंबर से शुरू होने जा रहे विधानसभा सत्र में जनलोकपाल बिल को प्रस्तुत किया जाएगा और उसे पास कराया जाएगा। इसके लिए बुधवार को कैबिनेट की बैठक भी बुलाई जाएगी और इसे मंजूरी दी जाएगी। सिसोदिया ने यह भी कहा कि एक ऐसा सख्त लोकपाल जो महज नारा नहीं होगा, जो सिर्फ प्रतीकात्मक नहीं होगा। कैबिनेट ने अन्ना आंदोलन के उस खास विधेयक को मंजूरी दी है, उसका नाम दिल्ली जन लोकपाल विधेयक, 2015 होगा।
इसके अलावा उन्होंने कहा यह वही विधेयक है जो अन्ना आंदोलन के दौरान तैयार किया गया था। इसमें किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है। इस विधेयक के मसौदे में यह प्रावधान भी है कि जन लोकपाल के दायरे में मुख्यमंत्री को भी लाया गया है और यह उत्तराखंड के लोकपाल विधेयक की तरह है जिसमें समयबद्ध जांच का प्रावधान है।
इस फैसले के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस विधेयक को जल्द ही विधानसभा में पेश किया जा सकता है जबकि सिसोदिया ने कहा कि कार्यमंत्रणा समिति इस बात पर फैसला करेगी कि विधेयक को सदन में कब पेश करना है। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि सरकार मौजूदा शीतकालीन सत्र में विधेयक को पारित कराने की हरसंभव कोशिश करेगी।
वहीं नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा सरकार मजबूरन यह कदम उठा रही है। गुप्ता ने कहा कि यदि यह खबर सही है तो यह हमारी सफलता है क्योंकि भाजपा विधेयक पेश करने की मांग करती रही है।
सरकार विधेयक नहीं लाना चाहती थी, लेकिन ऐसा लगता है कि मजबूरन यह विधेयक लाया गया है। दिल्ली कांग्रेस के प्रमुख अजय माकन ने कहा कि मूल विधेयक को किसी तरह से कमजोर करना कांग्रेस को स्वीकार्य नहीं होगा। आप सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान लाए गए विधेयक को लाया जाना चाहिए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top