Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महिलाएं कैब में बैठने से पहले एक बार इसे पढ़ लें

ड्राइवर बड़ी आसानी से मेरे हर मूवमेंट और बॉडी पोस्चर को शूट कर रहा था।

महिलाएं कैब में बैठने से पहले एक बार इसे पढ़ लें
नई दिल्ली. जब आप कोई कैब (कार) बुक करते हैं तो आप एक आरामदायक और सुरक्षित सफर की उम्मीद रखते हैं। लेकिन क्या हो अगर आपका कैब ड्राइवर आप की हर मूवमेंट और बॉडी पोस्चर को अपने मोबाइल में रिकॉर्ड करने लगे?
जी हां! यह मामला दिल्ली के चाणक्यपुरी का है जहां दिल्ली की ही एक लड़की प्रियंका ने कैब ड्राइवर द्वारा अपना वीडियो रिकॉर्ड करने की पूरी कहानी को फेसबुक पर पोस्ट किया है, जो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है। आपको बता दें कि प्रियंका ने इस पोस्ट में महिलाओं को अपनी सुरक्षा के लिए आगाह करते हुए सतर्क रहने को कहा है।
इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक प्रियंका ने फेसबुक पोस्ट के जरिये पूरी आपबीती बताते हुए ऑनलाइन कैब एग्ग्रीगेटर (OLA) कंपनी से ड्राइवर की शिकायत की है। फिलहाल कंपनी ने ड्राइवर को पुलिस की गिरफ्त में पहुंचा दिया है।
फेसबुक पोस्ट में प्रियंका ने बताया, "यहां मैं आपको कुछ बताने जा रही हूं। जो मेरे साथ OLA कैब में हुआ था। यह सभी महिलाओं को लिए चेतावनी होने के साथ ही OLA कंपनी के लिए आंखे खोल देने वाली कहानी हैं। दोपहर करीब पौने एक बजे मैं OLA कैब से चाणक्यपुरी जा रही थी। उस कैब के ड्राइवर का नाम अभिलाष सिंह था और इसका सीआरएन- 299860428 था।
जैसे ही कैब चाणक्यपुरी के लिए चलने लगी मैं फोन पर मेल और मैसेज चेक करने लगी। लेकिन तभी मुझे गाड़ी में कुछ अजीब लगा। कैब ड्राइवर का व्यवहार सही नहीं था और उसकी नजरें लगातार मुझ पर बनी हुई थी। वह बार-बार मुझे मिरर में देख रहा था। न जाने क्यों मुझे लगा कि मुझे सतर्क हो जाना चाहिए। थोड़ी देर में ही मेरा ध्यान एक मोबाइल फोन की तरफ गया जो मेरी तरफ फिक्स करके रखा हुआ था और ड्राइवर बड़ी आसानी से मेरे हर मूवमेंट और बॉडी पोस्चर को शूट कर रहा था। कैब में बैठते ही मुझे लगा था कि ड्राइवर जरूर कोई वीडियो शूट कर रहा है क्योंकि उसके मोबाइल का फ्रंट कैमरा मेरी तरफ फिक्स था।

मैंने उसका फोन दिखाने को कहा और मोबाइल छीन लिया फिर जो मैंने देखा वह काफी चौकाने वाला था। मोबाइल में मेरे बहुत सारे वीडियो थे। मेरे हर मूवमेंट, बॉडी पोस्चर और जो भी मैंने बोला वह सब कैप्चर किया गया था। अपनी जिंदगी में मैंने कभी भी ऐसी शर्मिंदगी महसूस नहीं की थी। सोचिये अगर मेरा वो वीडियो उसने शेयर कर दिया होता तो? तो मुझे पता भी नहीं होता और आज सभी की जेब में मेरा वीडियो होता।
यह सब देखकर मैं आगबबूला हो गई और अपनी सुरक्षा और प्राइवेसी के लिहाज से मैंने उस आदमी को पुलिस के हवाले कर दिया। लेकिन पुलिस ऑफिसर ने मुझसे कहा कि, "मैडम यह कोई बड़ा क्राइम नहीं है, यह तो छूट जाएगा। मुझे भी पता है वह ज्यादा दिन तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं रहेगा। इसलिए मैं चाहती हूं की OLA कैब कंपनी इस मामले में कोई बड़ा डिसीजन ले।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top