Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पढ़ी लिखी महिला शारीरिक संबंधो के परिणामों को जानती है : अदालत

आठ दिसंबर 2013 को आरोपी ने महिला को चाय में नशीला पदार्थ खिला कर एक दोस्त के घर पर उसके साथ बलात्कार किया था।

पढ़ी लिखी महिला शारीरिक संबंधो के परिणामों को जानती है : अदालत

दिल्ली की एक अदालत ने शादी का झांसा दे कर महिला के साथ बलात्कार करने के एक आरोपी को यह कहते हुए बरी कर दिया कि महिला शिक्षित और आत्मनिर्भर थी और वह जानती थी कि सहमति से शारीरिक संबंध बना रही है।

अदालत ने कहा कि यद्यपि महिला ने शादी के झांसे में आ कर आरोपी के साथ सहमति से संबंध बनाए थे लेकिन यह बलात्कार के अपराध की श्रेणी में नहीं आता।

इसे भी पढ़े:- पटना रैली में लालू की राजनीतिक साख दांव पर, सोनिया-राहुल-मायावती ने किया किनारा

अदालत ने पश्चिम दिल्ली निवासी आरोपी को यह कहते हुए बरी कर दिया कि अभियोजन यह साबित करने में नाकाम रहा है कि आठ दिसंबर 2013 को आरोपी ने महिला को चाय में नशीला पदार्थ खिला कर एक दोस्त के घर पर उसके साथ बलात्कार किया था जहां वह उसे उसका जन्मदिन मनाने के लिए ले गया था।

उन्होंने कहा कि यह साबित नहीं हो सका है कि आरोपी शादी का झूठा वादा करके फरवरी से अप्रैल 2014 तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा, उसका गर्भपात कराया और उसकी अश्लील तस्वीरें इंटरनेट में डालने की धमकी दी। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश शैल जैन ने यह आदेश सुनाया।

इसे भी पढ़े:- लाभ का पद मामले में केजरीवाल की आप पार्टी के 12 विधायक पहुंचे दिल्ली हाईकोर्ट

स्त्री-पुरुष दोनों व्यस्क हैं

अदालत ने कहा कि उसका यह मानना है कि महिला और पुरूष दोनों ही व्यस्क, शिक्षित और आत्मनिर्भर है और इस तरह के संबंधों के परिणाम क्या हो सकते हैं यह जानते बूझते हुए उन्होंने संबंध बनाए और यह अभियोजन का मामला नहीं है कि उस पर व्यक्ति के साथ संबंध बनाने के लिए दबाव डाला गया।

सुनवायी के दौरान आरोपी ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार किया और दावा किया कि इस मामले में झूठा फंसाया जा रहा है।

Next Story
Top