Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्लीः चिकनगुनिया और डेंगू से मरने वालों का आंकड़ा 30 हुआ

इन दोनों बीमारियों के करीब 2,800 मामले सामने आए हैं

दिल्लीः चिकनगुनिया और डेंगू से मरने वालों का आंकड़ा 30 हुआ
नई दिल्ली. दिल्ली में चिकनगुनिया और डेंगू की स्थिति गंभीर बनी हुई है और इन दोनों बुखारों से मरने वालों की संख्या 30 हो गई है। इन दोनों बीमारियों के करीब 2,800 मामले सामने आए हैं।
दक्षिणी दिल्ली के 75 साल के एक व्यक्ति की चिकनगुनिया की वजह से मौत हो गई जिससे इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 12 हो गई। जे डी मदान की सर गंगाराम अस्पताल (एसजीआरएच) में मौत हो गयी। अस्पताल में पिछले चार दिनों में पांच लोग इस बीमारी की भेंट चढ चुके हैं। अस्पताल के अधिकारियों ने कहा, ‘‘कालकाजी इलाके के रहने वाले मरीज को 12 अगस्त की रात को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
मरीज को बुखार था, ठंड लग रही थी और शरीर पर सूजन एवं चकत्ते थे। वह मायलॉयड मोनोसाइटिक ल्यूकिमिया के भी मरीज थे।' अधिकारियों के अनुसार मरीज ने सुबह छह बजकर 45 मिनट पर दम तोड दिया। इस समय अस्पताल में चिकनगुनिया के 23 मरीज भर्ती हैं जिनमें से दो को आइसीयू में रखा गया है।
अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि चिकनगुनिया से मरने वाले सभी पांचों मरीज बुजुर्ग थे और अस्पताल में डेंगू का भी एक मरीज भर्ती किया गया है लेकिन डेंगू से अस्पताल में किसी की मौत नहीं हुई है। सर गंगाराम अस्पताल ने कहा कि वहां इस मौसम में अब तक चिकनगुनिया के 100 जबकि डेंगू के 39 मरीज भर्ती किए गए हैं।
एम्स ने गुरुवार को एक संदिग्ध मामले की पुष्टि की थी। चिकुनगुनिया की वजह से मुजफ्फरनगर के रहने वाले पीडित के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। उसने इस महीने की शुरुआत में दम तोड दिया। राष्ट्रीय राजधानी में इस मौसम में 11 सितम्बर तक चिकनगुनिया के मामलों की संख्या 1,724 थी और क्लीनिक मरीजों से खचाखच भरे हुए हैं।
यहां अपोलो अस्पताल में चिकनगुनिया के कारण कल तक पांच लोग मारे गए थे। अधिकतर पीडितों की उम्र 80 या उससे ज्यादा थी। 12 पीडितों में से सात उत्तर प्रदेश के थे जिनमें से दो गाजियाबाद के रहने वाले थे। वहीं दिल्ली के पांच लोग बीमारी के कारण मारे गए। इस बीच, एम्स की प्रयोगशालाओं ने 13 सितंबर तक रक्त के 1,443 नमूनों में चिकनगुनिया के विषाणु पाए।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top