Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली के पांच अस्पतालों पर लगा 600 करोड़ का जुर्माना

अकेले फोर्टिस अस्पताल पर ही 503 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है।

दिल्ली के पांच अस्पतालों पर लगा 600 करोड़ का जुर्माना
नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली के पांच अस्पतालों पर 600 करोड़ रुपए का हर्जाना लगाया है। इन अस्पतालों पर गरीबों का इलाज न करने का आरोप है।
सरकार ने ये जुर्माना फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट, मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल (साकेत), शांति मुकुंद अस्पताल, धर्मशिला कैंसर अस्पताल और पुश्पावती सिंघानिया रिसर्च इंस्टीट्यूट पर यह कहते हुए जुर्माना लगाया है कि इनको जो जमीन मुहैया कराई गई थी वो गरीबों का मुफ्त इलाज कराने की शर्त पर कराई गई थी।
अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक ईडब्लयूएस के निदेशक डॉ. हेम प्रकाश ने कहा कि ये अस्पताल सरकार की शर्तों पर खरा उतरने में कामयाब नहीं रहे हैं।
वहीं दूसरे अधिकारी ने कहा है कि अगर ये अस्पताल जल्द ही ये हर्जाना नहीं भरते हैं तो इन पर ही सख्त कार्रवाई की जाएगी। इन पांचों अस्पतालों को ये हर्जाना भरने के लिए एक महीने का समय दिया गया है। साथ ही नोटिस जारी करते हुए अस्पतालों से यह भी जवाब मांगा है कि आखिर उन्होंने गरीबों का इलाज क्यों नहीं किया।
अधिवक्ता अशोक अग्रवाल ने हाईरकोर्ट में कहा कि जिन अस्पतालों को 1960 से लेकर 1990 तक सस्ते दामों पर जमीन मुहैया कराई गई थी, उनसे 22 मार्च 2007 से लेकर अब तक पूरा हर्जाना वसूला जाना चाहिए।
ड़ॉ. हेमप्रकाश ने बताया कि दिल्ली में 43 ऐसे अस्पताल हैं, जिन्हें सरकार ने सस्ते दामों पर जमीन दी थी। जमीन देने की शर्त पर इन अस्पतालों को गरीब मरीजों का मुफ्त इलाज करना पड़ेगा साथ ही 10% बेड इनके लिए आरक्षित रखना होगा।
इस मामले में अकेले फोर्टिस अस्पताल पर ही 503 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है। PSRI के मेडिकल डायरेक्टर डॉ. राकेश टन्डन ने सरकार को जवाब देते हुए कहा कि हम जरूरत से ज्यादा गरीबों का मुफ्त इलाज करते हैं। साथ ही धर्मशिला कैंसर अस्पताल के निर्देशक
सुवर्षा खन्ना ने कहा कि वह आदेश के आने के बाद ही उत्तर देंगे। फिलहाल शांति मुकुंद अस्पताल से संपर्क नहीं हो सका है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top