Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

डीडीसीए ने जेटली के खिलाफ आरोपों को बिलकुल बकवास बताया

मैं नवीनीकरण का काम देखने और इसे आधुनिक स्टेडियम बनाने के लिए जेटली को धन्यवाद देना चाहता हूं- चेतन चौहान

डीडीसीए ने जेटली के खिलाफ आरोपों को बिलकुल बकवास बताया
नई दिल्ली. दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) ने वित्त मंत्री और अपने पूर्व अध्यक्ष अरुण जेटली के खिलाफ ‘वित्तीय अनियमितताओं' के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि इस तरह के आरोप ‘बिलकुल बकवास' हैं।
कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के जेटली को निशाना बनाने और डीडीसीए में ‘वित्तीय अनियमितता' के आरोप में उनका इस्तीफा मांगने के घंटों बाद डीडीसीए के कार्यवाहक अध्यक्ष चेतन चौहान ने प्रेस कांफ्रेंस करके सभी आरोपों से इनकार किया। जेटली 1999 से 2013 तक डीडीसीए के प्रमुख रहे।
चौहान ने कहा, ‘‘डीडीसीए के खिलाफ कुछ आरोप लगाए गए हैं और इसमें स्पष्टीकरण की जरुरत है क्योंकि कर कोई अपना नजरिया रख रहा है। पहली चीज स्टेडियम के निर्माण में अनियमितता का आरोप है। स्टेडियम के निमार्ण पर 141 करोड़ रुपये का खर्च आया।'
उन्होंने कहा, ‘‘बढ़ी कीमत का कारण यह था कि पहले क्षमता 26000 दर्शकों की थी लेकिन हमने इसे तोड़ा और इसके बाद नवीनीकरण किया। यह आरओसी में रिकार्ड है। यह ईपीआईएल को दिया गया था इसलिए मैं इन आरोपों को बिलकुल बकवास करार देता हूं।' उन्होंने कहा, ‘‘पूर्व अध्यक्ष (जेटली) के खिलाफ आरोप बकवास हैं। मैं नवीनीकरण का काम देखने और इसे आधुनिक स्टेडियम बनाने के लिए जेटली को धन्यवाद देना चाहता हूं।'
चौहान के अनुसार सीरियस फ्राड इनवेस्टिगेशन आफिस (एसएफआईओ) ने अनियमितताओं की जांच की थी और धोखाधड़ी के एक मामले के अलावा कुछ नहीं मिला। उन्होंने कहा, ‘‘एक अन्य अनियमितता मिली थी और मामला अदालत में है। हमने पांच दिन टेस्ट मैच का आयोजन किया और एक दिन 27000 दर्शक मौजूद थे।'
चौहान ने कहा, ‘‘टेस्ट मैच के दौरान सभी निविदाओं की सतर्कता से जांच की गई। बंसल के खिलाफ अनियमितता का एक आरोप दिसंबर 2013 में जेटली के पद छोड़ने के बाद का है।' इससे पहले कांग्रेस ने दावा किया था कि दिल्ली सरकार द्वारा गठित समिति को जेटली के कार्यकाल के दौरान डीडीसीए में गंभीर वित्तीय अनियमितताएं मिली।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां -
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top