Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कंट्रोल रुम से होगी प्रदूषण की निगरानी, एनसीआर की हवा पर भी रहेगी नजर

कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि हरियाणा में धान की कटाई के बाद बचने वाले पराल को जलाने के मामले को लेकर उचित कदम उठाए जा रहे हैं।

कंट्रोल रुम से होगी प्रदूषण की निगरानी, एनसीआर की हवा पर भी रहेगी नजर
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली की लगातार खराब हो रही आबोहवा के मामले पर केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्रालय जल्द ही इसकी निगरानी के लिए एक कंट्रोल रूम का गठन करेगा। इसे राजधानी स्थित केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) में स्थापित किया जाएगा। कंट्रोल रूम से वायु प्रदूषण के स्तर की रोजाना निगरानी के अलावा दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) की हवा की गुणवत्ता की भी जानकारी मिलेगी।
ये बातें यहां शुक्रवार को आयोजित केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रकाश जावड़ेकर ने वायु प्रदूषण के मामले पर दिल्ली, एनसीआर के राज्यों के मंत्रियों की सालाना समीक्षा बैठक में कही। जावड़ेकर ने कहा कि वायु प्रदूषण की गुणवत्ता सुधारने के लिए जल्द ही दिल्ली और एनसीआर की सरकारों को निर्देंश जारी किए जाएंगे। उन्होंने दिल्लीवालों खासकर बच्चों से दिवाली में पटाखों का प्रयोग न करने की अपील की। गौरतलब है कि हाल में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा था कि इस साल दिल्ली ने चीन की राजधानी बीजिंग को पीछे छोड़कर दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर का स्थान प्राप्त कर लिया है।
बैठक में मौजूद हरियाणा के पर्यावरण एवं वन मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि राज्य में धान की कटाई के बाद बचने वाले पराल को जलाने के मामले को लेकर उचित कदम उठाए जा रहे हैं। हमें लगता है कि पराल को जलाने पर पूर्णत: रोक लगाना ठीक नहीं है। ये इस मामले का समाधान नहीं है। हमें इसके विकल्प पर विचार करना होगा। विकल्प से किसानों के हितों की भी रक्षा हो सकेगी।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top