Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

छोटा राजन खोल रहा है दाऊद इब्राहिम के राज, CBI की पूछताछ जारी

छोटा राजन को बाली से गिरफ़्तार किया गया था।

छोटा राजन खोल रहा है दाऊद इब्राहिम के राज, CBI की पूछताछ जारी
नई दिल्‍ली. अंडरवर्ल्ड माफिया छोटा राजन ने पूछताछ में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बारे में कई राज उगले हैं। रॉ और आईबी के अधिकारियों का एक दल राजन से पूछताछ करने के लिए सीबीआई मुख्यालय पहुंचा। जहां राजन ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के बारे में कई महत्वपूर्ण बातें अधिकारियों के साथ साझा की। आपको बता दें, आज सुबह उसे विशेष विमान से बाली से दिल्ली के पालम एयरपोर्ट लाया गया, जोकि सुबह करीब 5.20 बजे एयरपोर्ट के टेक्निकल एरिया में उतरा। छोटा राजन को बाली से गिरफ़्तार किया गया था। उसकी वापसी के दौरान सुरक्षा बेहद कड़ी रखी गई। टेक्निकल एरिया में स्‍वात और पुलिस की टीमें सुरक्षा में तैनात रखी गईं। बताया जा रहा है कि जब राजन एयरपोर्ट पर विमान से नीचे उतरा, तो उसने सबसे पहले 'भारतीय धरती को चूमा।'
राजन को 25 स्‍वात कमांडों की कड़ी निगरानी में सुबह 6 बजे सीबीआई मुख्‍यालय लाया गया। एयरपोर्ट से सीबीआई मुख्यालय ले जाते वक़्त छोटा राजन को बुलेटप्रूफ़ एंबेसडर कार में बिठाया गया था। साथ में सीबीआई और दिल्ली पुलिस के अधिकारी भी मौजूद थे। सीबीआई मुख्‍यालय के अंदर, बाहर और आसपास के इलाकों में सुरक्षा बेहद कड़ी रखी गई है। रास्‍तों में कई जगह बैरिकेडिंग की गई है और सुरक्षा बलों की तैनाती गई है।
राजन को एयरपोर्ट से सीबीआई मुख्‍यालय तक लाने में कितनी एहतियात बरती गई, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उसे लाने के लिए दो प्‍लान तैयार किए गए। प्‍लान ए और प्‍लान बी। प्‍लान ए के तहत एयरपोर्ट के मेन गेट से बुलेटप्रूफ कार एक डमी काफिले के साथ निकली और लोधी कालोनी स्थित स्‍पेशल सेल के दफ्तर पहुंची। वहीं, दूसरा 'असली काफिला' उसे लेकर सीबीआई दफ्तर पहुंचा।
इससे पहले एक अधिकारी ने बताया था कि 55 वर्षीय राजन को लेकर विशेष विमान ने नगुरा राय अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे से गुरुवार स्थानीय समयानुसार रात करीब सवा दस बजे (भारतीय समयानुसार शाम पौने आठ बजे) उड़ान भरी। वहीं, इंडोनेशिया में भारत के राजदूत गुरजीत सिंह ने ट्वीट किया, 'छोटा राजन को सफलतापूर्वक भारत निर्वासित कर दिया गया। बाली एयरपोर्ट बंद रहने की वजह से हुई देरी समाप्त हुई। सहयोग के लिए इंडोनेशिया का शुक्रिया।' दरअसल, बाली के पास एक ज्वालामुखी विस्फोट से निकली राख की वजह से वहां अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर परिचालन बंद था, जिसकी वजह से राजन का निर्वासन टल गया था।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top