Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुलिस के लिए सीसीटीवी बना हथियार, कई मर्डर केस सुलझाने में मिली मदद

यह हथियार पुलिस को जिले में रहने वाले लोगों ने दिया है।

पुलिस के लिए सीसीटीवी बना हथियार, कई मर्डर केस सुलझाने में मिली मदद

नई दिल्ली. दिल्ली में वारदातों को अंजाम देने वाले बदमाशों को दिल्ली पुलिस सर्विलांस और मानवीय सूचना के आधार पर सुलझाती थी, लेकिन अब पुलिस के हाथ एक बड़ा हथियार लग गया है। यह हथियार है सीसीटीवी।

यह हथियार पुलिस को जिले में रहने वाले लोगों ने दिया है। मध्य जिले की पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए करीब 50 से ज्यादा केस सुलझाने का दावा किया है।
पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है कि जिले में ऐसी कोई भी जगह नहीं है, जहां बदमाश वारदात को अंजाम देकर अपनी पहचान को छुपाने में सफल हो सकें।
दिल्ली में सभी जगहों पर सीसीटीवी कैमरे लगाकर दिल्ली को महफूज बनाने का मकसद काफी दिनों से चल रहा है, लेकिन मध्य जिला पुलिस ने सरकारी कैमरे लगाने के साथ साथ अपने जिले में रहने वाले लोगों को घरों व दुकानों के बाहर कैमरे लगाने के लिए जागरूक किया।
जगरूकता से हुआ असर-
पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के कहने पर लोगों ने कैमरे लगाए। इस वर्ष जनवरी से लेकर अब तक जिले में करीब 25 हजार कैमरे लगाए जा चुके हैं। हालांकि इसमें सरकारी कैमरे की संख्या करीब साढ़े चार सौ ही है।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस मुहिम के तहत पहले बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए दुकानदारों को जागरूक किया गया।
पुलिस ने उनसे कहा कि जिस तरह वह अपनी सुरक्षा के लिए दुकान के अंदर कैमरे लगाते हैं, इसी तरह वह एक कैमरा दुकान के बाहर भी लगाए, ताकि उनके दुकान के बाहर होने वाले किसी भी वारदात पर आसानी से नजर रखी जा सके।
नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए,पूरी खबर

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

Next Story
Top