Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोगों को कैशलेस लेन-देन के लिए जागरूक करेगी भाजपा

यह कार्यक्रम सुबह से शाम तक चलेगा, जिसके जरिए लोगों को कैशलेस भुगतान के फायदे भी बताए जाएंगे।

लोगों को कैशलेस लेन-देन के लिए जागरूक करेगी भाजपा
नई दिल्ली. दिल्ली भाजपा के सभी सांसद, विधायक और पार्टी के नेता आज राजधानीवासियों को बिना नकदी के लेन-देन की विधियों के बारे में बताएंगे। यह कार्यक्रम सुबह से शाम तक चलेगा, जिसके जरिए लोगों को कैशलेस भुगतान के फायदे भी बताए जाएंगे। इसकी जानकारी दिल्ली भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष मनोज तिवारी ने शनिवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में दी। दिल्ली भाजपा का अध्यक्ष बनने के बाद तिवारी की यह पहली प्रेस कांफ्रेंस थी।
मनोज तिवारी ने कहा कि विमुद्रीकरण का राजनीतिक विरोध केवल बदले की भावना से प्रेरित है जो उन राजनीतिक दलों के मन में देश की राजनीति में हाशिए पर चले जाने के डर से पैदा हुआ है जो मुख्य विपक्षी दल की मान्यता के लिए आपस में ही लड़ते रहते हैं। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से देश में कालाधन खत्म हो जाएगा। जो काला धन सामने आएगा, उसे विकास के कार्यों में लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि विरोधी दलों को कालेधन के कारण भारत के गिरते आर्थिक स्वास्थ्य की कोई चिंता नहीं है क्योंकि वे विमुद्रीकरण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बढ़ते राजनीतिक कद से डरे हुए हैं।
तिवारी ने कहा कि अनेक राजनीतिक दल, जिन्होंने कालाधन जमा कर रखा है, इस पर हाय-तौबा मचा रखी है, लेकिन जनसाधारण इस बदलाव के दौरान होने वाली कठिनाइयों का सामना करने के लिए तैयार है क्योंकि वह कैशरहित अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ने के लिए तैयार है। उन्होंने राजनीतिक कार्यकर्ताओं और युवाओं को मोबाइल ऐप के जरिए भुगतान करने और इसके बारे में परिवार के बुजुर्गों को भी शिक्षित करने को कहा। उन्होंने कहा कि युवाओं को मेरा मोबाइल, मेरा बैंक, मेरा बटुआ को अपनाने में उनकी सहायता करनी चाहिए।
तिवारी ने कहा कि 1951 से 2016 तक भारत में दस बार सरकारों ने वीडीआइएस और बॉन्ड स्कीमों की घोषणा की है जिसका मकसद अंतरराष्टÑीय वित्त विशेषज्ञों और मीडिया के दवाब में कालेधन को खत्म करना था, लेकिन पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकारों ने कभी भी कालेधन के उन्मूलन का प्रयास नहीं किया, इसलिए यूपीए सरकार के 10 साल के कार्यकाल के दौरान देश की जीडीपी लगभग 35 फीसद हो गई थी।
जनसत्ता की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रधानमंत्री इस संबंध में कड़ाई से कार्रवाई करना चाहते हैं, इसलिए उन्होंने उच्च मूल्य के नोटों का विमुद्रीकरण करके कालेधन की जड़ पर ही प्रहार किया। तिवारी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालाधन रखने वालों की कमर तोड़ दी है, लेकिन अब हम नागरिकों की जिम्मेदारी है कि हम किसी भी तरह से कालेधन को फिर पनपने से रोकें।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top