Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब नए कारोबार का पंजीकरण करें ऑनलाइन, सरकार ने लॉन्च की ''डीवैट एम सेवा''

अब मोबाइल से करा सकेंगे नए कारोबार का पंजीकरण।

अब नए कारोबार का पंजीकरण करें ऑनलाइन, सरकार ने लॉन्च की
नई दिल्ली. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को व्यापारियों के लिए विशेष ऐप डीवैट एमसेवा लांच किया। ऐप के जरिए व्यापारियों को अपने कारोबार का रजिस्ट्रेशन कराना आसान होगा। इस मौके पर मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि ऐप के जरिए भ्रष्टाचार और इंस्पेक्टर राज को खत्म कराना आसान होगा। मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि मोबाइल पर अन्य सुविधाएं भी जल्द शुरू होंगी।
इंस्पेक्टर राज खत्म
फिलहाल वैट विभाग के पास 41 हजार आवेदन पेंडिंग पड़े हुए हैं। ऐप लांच होने से जल्द ही पंजीकरण कार्य पूरे हो जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले एक साल में इंस्पेक्टर राज को खत्म करने के लिए कई आवश्यक कदम उठाए गए, ताकी व्यापारियों को व्यापार करना आसान हो और उनकी समस्याओं को आसानी से सुलझाया जा सके। वैट विभाग जल्द ही 24 घंटे सेवा वाली हेल्पलाइन नंबर 155055 जारी करेगा। इस बाबत बाकायदा कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा, ताकि पंजीकरण के दौरान व्यापारियों को किसी तरह की दिक्कत हो। दिल्ली सरकार को दो-तिहाई राजस्व की प्राप्ति वैट के जरिए प्राप्त होती है। पिछले साल वैट के तौर पर 20501 करोड़ रुपए की प्राप्ति हुई थी।
ऐप लांच करते मुख्यमंत्री केजरीवाल।
क्या होगा ऐप से
कोईभी व्यापारी मोबाइल से ही ऐप के जरिए अपने व्यापार का पंजीकरण करा सकता है। इसके अलावा फाइनल टीन के लिए आवेदनकर सकता है। व्यापार में बदलाव या पता, फोन नंबर, मेल आईडी बदलने के लिए भी आवेदन किया जा सकता है। फाइल डीएस-टू फॉर्म और वाहनों की जानकारी भी उपलब्ध कराई जा सकती है।
वेरिफिकेशनसे राहत
अबकिसी व्यापारी की दुकान पर वेरिफिकेशन के लिए इंस्पेक्टर नहीं आएगा और ही व्यापारी को बेवजह परेशान करेगा। बता दें कि पहले ही ट्रेड एंड टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा 'बिल बनाओ इनाम पाओ' और मार्केट एसोसिएशन रिवार्ड स्कीम लांच की जा चुकी है।
आगे की स्लाइड्स में पढ़िए, खबर से जुड़ी अन्य जानकारियां-
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top