Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अर्जुन अवॉर्ड विजेता को चलते ऑटो में लूटा

अर्जुन अवॉर्ड विजेता अशोक पंडित से ऑटो सवार बदमाशों ने ढाई लाख रुपये लूट लिए।

अर्जुन अवॉर्ड विजेता को चलते ऑटो में लूटा
नई दिल्ली. मध्य जिले के आइपी स्टेट इलाके में चलते ऑटो में अर्जुन अवॉर्ड विजेता अशोक पंडित से ऑटो सवार बदमाशों ने ढाई लाख रुपये लूट लिए। वह मुंबई से दिल्ली आए थे। पीड़ित ने ऐप से कैब बुक की थी। लेकिन कैब के समय पर न पहुंचने पर उन्हें एक ऑटो वाले ने नोएडा तक के लिए बिठा लिया था। रास्ते में एक एक करके चार बदमाश ऑटो में सवार हुए। वारदात को अंजाम देकर सभी बदमाश चलते ऑटो से भाग गए।
इतना ही नहीं, ऑटो से ड्राइवर भी कूदकर भाग निकला। बिना ड्राइवर के ऑटो चलता रहा। ऑटो स्टेडियम के गेट संख्या-4 के पास टकराकर रूका। पीड़ित ने तुरंत मामले की सूचना पुलिस को दी। कई बार कॉल करने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़ित के बयान पर केस दर्ज किया।
पुलिस ने ऑटो को जब्त कर लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, अशोक पंडित मुंबई स्थित गोरेगांव वेस्ट में परिवार के साथ रहते हैं। अशोक पंडित मुंबई से राजधानी एक्सप्रेस से शुक्रवार सुबह दिल्ली पहुंचे। उन्हें नोएडा अपने एक दोस्त के पास जाना था जो कि उत्तर प्रदेश निशानेबाज संघ अध्यक्ष हैं। अशोक पंडित भी महाराष्ट्र निशानेबाज संघ के अध्यक्ष हैं।
पहले ही बुक करा चुके कैब का इंतजार कर रहे थे। तभी एक ऑटो वाला आया और पूछने लगा। अशोक पंडित ने बताया कि उन्हें नोएडा जाना है। ऑटो वाले ने नोएडा तक चलने की बात मानी। वहां से चलते हुए दो लड़के साथ में बैठ गए। पीड़ित का बैग ड्राइवर ने आगे रख लिया। कुछ दूरी पर एक और लड़का ऑटो में बैठा। पीड़ित को चलते ऑटो में शक हुआ। रोकने के लिए कहा। लेकिन ऑटो तेजी से चलता रहा। उन्होंने ऑटो ड्राइवर से अपना बैग मांगा। पीछे खींचकर बैग देखा तो कुछ सामान गायब मिला।
फिल्मी अंदाज में कूदे आरोपी
पुलिस सूत्रों की माने तो पीड़ित जब तक ऑटो को रुकवाते एक एक करके लड़के उतरकर भागे। पीड़ित ने शोर मचाया तो ऑटो ड्राइवर भी चलते ऑटो से कूदकर भाग गया। गेयर में होने की वजह से ऑटो करीब 100 मीटर तक बिना ड्राइवर के चलता रहा।
ट्रैफिक में एक्सीडेंट होने के डर से अशोक ने पीछे से ही हैंडल को पकड़कर अंबेडकर स्टेडियम के गेट संख्या-4 की ओर किया। जहां दीवार में टक्कर लगने के बाद ऑटो रूका। बैग चेक करने पर उसमें से 2 लाख 40 हजार गायब थे।
वहीं पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की माने तो पुलिस ने पीड़ित के बयान पर केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल पुलिस आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों को खंगाल कर आरोपियों की पहचान करने में जुटी हुई है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top