Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

CBI छापे पर बिफरे केजरीवाल और सिसोदिया, CBI ने की झूठा प्रचार न करने की अपील

सीबीआई को सह आरोपी जीके नंदा से 10 लाख मिले हैं, जबकि राजेंद्र के घर से तीन लाख रुपये की विदेशी मुद्रा मिली है।

CBI छापे पर बिफरे केजरीवाल और सिसोदिया, CBI ने की झूठा प्रचार न करने की अपील
नई दिल्‍ली. दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर की गई सीबीआई छापेमारी पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री ने कड़ी प्रतिक्रियाएं व्यक्त की हैं। केजरीवाल ने प्रधानमंत्री को मनोरोगी बताया तो वहीं उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे केंद्र सरकार की घटिया चाल बताया। वहीं सीबीआई ने कहा कि प्रधान सचिव पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं।
सीबीआई ने एक बड़ी कार्रवाई के तहत आज दिल्‍ली सचिवालय में प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार और उनके घर पर छापेमारी की। इसके साथ ही जांच एजेंसी ने दिनेश गुप्‍ता, एके दुग्‍गल, जीके नंदा, आरएस कौशिश और एस कुमार के ठिकानों को मिलाकर छह जगहों पर छापेमारी की। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई को सह आरोपी जीके नंदा से 10 लाख मिले हैं, जबकि राजेंद्र के घर से तीन लाख रुपये की विदेशी मुद्रा मिली है। इसके अलावा तीन प्रोपर्टी के दस्‍तावेज भी मिले है। सीबीआई का कहना है कि राजेंद्र कुमार जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं और उन्‍होंने कहने पर अपना ईमेल अकाउंट नहीं खोला। उधर, आम आदमी पार्टी का कहना है कि राजेंद्र कुमार की प्रोपर्टी घोषित है।
हमारी जांच को प्रभावित करने के लिए झूठा प्रचार मत कीजिए : CBI प्रवक्‍ता
सीबीआई प्रवक्‍ता देवप्रीत सिंह ने मीडिया से कहा कि 'सीबीआई ने दिल्‍ली सरकार के एक वरिष्‍ठ लोकसेवक और छह अन्‍य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। इन पर आरोप है कि इन्‍होंने साल 2007-14 के दौरान दिल्‍ली सरकार के ठेके एक प्राइवेट फर्म को आवंटित करने में अपनी आधिकारिक स्थिति का दुरुपयोग किया। सक्षम कोर्ट से वारंट मिलने पर आज दिल्‍ली व यूपी के 14 स्‍थानों पर तलाशी की जा रही है। दिल्‍ली के सीएम के कार्यालय की तलाशी से संबंधित खबरें पूरी तरह आधारहीन हैं। इन रिपोर्टों का सीबीआई पूरी तरह खंडन करती है। हमारी जांच को बाधित करने के लिए झूठा प्रचार मत करिए। सीबीआई भ्रष्‍टाचार के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई करने के लिए प्रतिबद्ध है।'
आम आदमी पार्टी गंभीर आरोप वाले अफसर को बचा रही है : रविशंकर प्रसाद
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि 'सीबीआई ने बाकायदा सर्च वारंट के बाद कार्रवाई की। राजेंद्र कुमार के खिलाफ गंभीर आरोपों के चलते उन पर कार्रवाई की गई। उन्‍होंने दिल्‍ली सरकार को फायदा पहुंचाने की कोशिश करने का आरोप भी लगाया। साथ ही सवाल किया कि क्‍या ऐसे संगीन आरोप पर कार्रवाई करना दुराचार है?' उन्‍होंने आगे कहा, 'सीबीआई कार्रवाई पर आम आदमी पार्टी का दोहरा मापदंड है। आम आदमी पार्टी गंभीर आरोप वाले अफसर को बचा रही है।' केंद्रीय मंत्री ने सीएम अरविंद केजरीवाल से सवाल करते हुए कहा कि 'आपने राजेंद्र कुमार को सचिव रखते वक्‍त जांच-पड़ताल क्‍यों नहीं की? अधिकार का दुरुपयोग करना भ्रष्‍टाचार है या नहीं? अब इस कार्रवाई को संघवाद पर खतरा बताया जा रहा है। भ्रष्‍टाचार संघवाद के भीतर कहां से आता है?'
Next Story
Top