Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पुरानी डीजल-पेट्रोल गाड़ियां बैन, आपके पास हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर

एनजीटी के सख्त रूख के बाद दिल्ली-एनसीआर से 10 साल पुरानी डीजल वाहन और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ियों का परिचालन रूक गया है।

पुरानी डीजल-पेट्रोल गाड़ियां बैन, आपके पास हैं तो जरूर पढ़ें ये खबर
एनजीटी यानि नैशनल ग्रीन ट्राइब्यूनल के दिल्ली-एनसीआर में दस साल से ज्यादा पुरानी गाड़ियों की आवाजाही पर रोक बरकरार रखा है। एनजीटी ने केंद्र सरकार की उस याचिका को ठुकरा दिया है, जिसमें एनजीटी के पहले के फैसले को बदलने की अपील की गई थी।
एनजीटी के सख्त रूख के बाद दिल्ली-एनसीआर से 10 साल पुरानी डीजल वाहन और 15 साल पुरानी पेट्रोल गाड़ियों का परिचालन रुक गया है। पुलिस ने सड़कों पर चलने वाली पुरानी गाड़ियों को जब्त करना शुरू कर दिया है। ऐसे में इन गाड़ियों के मालिकों के पास कुछ बेहतरीन ऑप्शन ये हो सकते हैं:-

दिल्ली-एनसीआर के बाहर है बाजार

साफ है कि अब पुरानी गाड़ियों के मालिकों को दिल्ली-एनसीआर के बाहर के बाजार पर नजर दौड़ानी पड़ेगी। दिल्ली-एनसीआर में पुरानी गाड़ियों के बेहतर दाम मिलना अब मुश्किल होगा। दूर-दराज के इलाकों में पुरानी गाड़ियों के अच्छे दाम मिल सकते हैं।

ऑटो कंपनियों की एक्सचेंज स्कीम

पुरानी गाड़ियों के मालिकों के पास यह भी ऑप्शन है कि वो ऑटो कंपनियों की एक्सचेंज स्कीम का फायदा उठाएं। यहां पुरानी गाड़ी के बेहतर दाम भी मिल सकते हैं। शर्त यह है कि आपकी गाड़ी चलताऊ हालत में होनी चाहिए।

दिल्ली-एनसीआर में नई गाड़ी पर जोर

दिल्ली-एनसीआर का कोई बाशिंदा अगर कोई गाड़ी खरीदने की सोच रहा है, तो पुरानी गाड़ी लेने की बजाए नई गाड़ी पर ही दाव लगाए। इससे आप लंबे समय तक गाड़ी का फायदा उठा सकेंगे। इसके अलावा आपके पास रीसेल के भी ऑप्शन मिल सकेंगे।

एनजीटी ने इसलिए उठाया कदम

एनजीटी ने पुरानी गाड़ियों पर बैन करने का फैसला दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए लगाया है। एनजीटी का मानना है कि 1 डीजल की गाड़ी 24 पेट्रोल की गाड़ियों और 40 सीएनजी चलित वाहनों के बराबर प्रदूषण करती हैं। एनजीटी के फैसले से दिल्ली-एनसीआर की जहरीली हवा दूर करने में हेल्प मिलेगी।
Next Story
Top