Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

प्रीमियम बस: भ्रष्टाचार के मुद्दे पर एसीबी जांच शुरु

आप सरकार के मंत्री और अधिकारी मिलकर प्रीमियम बस सर्विस योजना में भ्रष्टाचार कर रहे है।

प्रीमियम बस: भ्रष्टाचार के मुद्दे पर एसीबी जांच शुरु
X
नई दिल्ली. भ्रष्टाचार को जड़ से मिटाने के मुद्दे पर पहली सरकार बनाने वाली आम आदमी पार्टी खुद ही भ्रष्टाचार के मामले में फंसती दिख रही है। अरविंद केजरीवाल सरकार द्वारा ऐप.आधारित प्रीमियम बस सर्विस चलाने से पहले ही भ्रष्टाचार के आरोपों में घिर गई है, जिसकी जांच दिल्ली भ्रष्टाचार निरोधक शाखा(एसीबी) ने शुरू कर दी है।
यह पहला मामला है जब केजरीवाल सरकार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हो और एसीबी ने जांच भी शुरू कर दी हो। अभी तक दूसरों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाने वाली आप पार्टी खुद घिर गई है। हालांकि आप का कहना है कि यह सभी आरोप बेबुनियाद हैं।
नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने एसीबी प्रमुख एम के मीणा को मंगलवार को एक शिकायत दी थी जिसमें आरोप लगाए गए थे कि आप सरकार के मंत्री और अधिकारी मिलकर प्रीमियम बस सर्विस योजना में भ्रष्टाचार कर रहे है। गुप्ता की शिकायत के बाद ही एसीबी प्रमुख मीणा ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। विपक्ष ने आरोप लगाए हैं कि प्रीमियम बस सर्विस के मामले में गुरूग्राम स्थित एग्रीगेटर प्लेटफार्म शटल को भारी वित्तीय लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से निर्धारित प्रक्रिया को ताक पर रखकर सरकार द्वारा अधिसूचना जारी की गई।
एसीबी प्रमुख एम के मीणा ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर जांच शुरू की गई है। गुप्ता ने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार गुड़गांव की एक बस कंपनी को फायदा पहुंचाने को कोशिश कर रही है। उनका यह भी कहना है कि ऐप आधारित प्रीमियम बस सेवा शुरू करने से पहले उपराज्यपाल की अनुमति नहीं ली गई। गुप्ता ने अपनी शिकायत में दावा किया कि पूरी योजना गुड़गांव की एक बस कंपनी के पक्ष में तैयार की गई है जो दिल्ली में अवैध रूप से कांट्रैक्ट कैरिज बसों का संचालन कर रही है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर
और पिंटरेस्‍ट पर-

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story