Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आप महिला कार्यकर्ता ने की खुदकुशी, साथी नेता पर आरोप

महिला कार्यकर्ता ने साथी नेता पर लगाया यौन शोषण को आरोप

आप महिला कार्यकर्ता ने की खुदकुशी, साथी नेता पर आरोप
नई दिल्ली. दिल्ली में आम आदमी पार्टी की एक महिला कार्यकर्ता ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली। बता दें कि देर रात दिल्ली के लोक नायक अस्पताल में महिला ने आखिर सांस ली। महिला कार्यकर्ता का आरोप था कि पार्टी का ही एक नेता उससे छेड़छाड़ और यौन शोषण करता था। जिससे वो काफी परेशान थी।
एनडीटीवी की न्यूज के मुताबिक, महिला कार्यकर्ता का आरोप है कि पार्टी के ही एक सहयोगी उससे छेड़छाड़ करते थे। इस मामले की शिकायत उसने महिला आयोग से लेकर पुलिस तक में की थी लेकिन कार्रवाई नहीं होने और शिकायत के बाद धमकी मिलने से परेशान होकर उसने खुदकुशी कर ली। खुदकुशी करने से पहले उसने इंसाफ के लिए काफी जद्दोजहद की थी।
बता दें कि सामाचार एजेंसी पीटीआइ को पुलिस ने बताया कि महिला कार्यकर्ता ने मंगलवार को नरेला स्थित अपने घर पर जहर खाया और एलएनजेपी अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत हो गई। तो वही एबीपी न्यूज के मुताबिक, मौत से पहले एक ऑडियो क्लिप में वह अपने गुनहगार का कच्चा-चिट्ठा खोल गई और जाते-जाते अपने गुनहगार के नाम बता गई। महिला ने एलएनजेपी हॉस्पिटल में मरने से पहले अपने आखिरी बयान में तीन लोगों का नाम लिया जिनमें रमेश भारद्वाज, अमित, रजनीकांत शामिल हैं।
खुदकुशी से पहले महिला कार्यकर्ता ने अपने दर्द की दास्तान भी बयान की पीड़ित महिला ने बताया कि आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता रमेश भारद्वाज के कारण मैंने सुसाइड की है। उसने मेरे ऊपर फ्लैट के पैसे के कारण झूठा आरोप लगाया, इसलिए मैं जिंदगी नहीं जी सकती थी। इसलिए मैंने सुसाइड किया मेरा और कोई रीजन नहीं है।
मैं अपने बच्चों के साथ अकेली रहती हूं,मेरे पति बाहर रहते हैं। मैं अपने आप को सेफ फील नहीं कर रही हूं। मैंने महिला आयोग में ये केस दर्ज कराया, क्योंकि पार्टी से हमें कुछ भी सुनवाई नहीं मिली और कोई कुछ भी बोले पार्टी वालों ने कोई साथ नहीं दिया। पीड़िता ने बताया कि एक बार मुझे वह एक प्रोग्राम में ले गए थे। एमएलए के प्रोग्राम में हम 6 लड़कियां गए थे।
उन्होंने कई लड़कियों को गाड़ी से नीचे उतारकर मेरे साथ 15 मिनट बातें की। मरे साथ ये कर लो...वो कर लो... मेरे साथ बदतमीजी की, मैं बहुत मुश्किल से गाड़ी से उतरी थी। यही नहीं रमेश भारद्वाज ने छेड़खानी की बार-बार शारीरिक संबंध बनाने के दबाव डाले। ऐसा नहीं करने पर ब्लैकमेलिंग के भी आरोप लगाए।
अब सवाल यह उठता है कि क्या दिल्ली के सीएम केजरीवाल आपनी पार्टी को साफ कहने वाले इस मामले पर कोई कार्रवाई करेंगे। क्योंकि सीएम पहले भी महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर बोलते रहे है और दिल्ली महिलाओं के लिए क्या वाकई में सेफ है ये अब सीएम केजरीवाल ही बताएंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top