Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने आप विधायक पंकज पुष्कर को मार्शलों से बाहर निकलवाया

पंकज पुष्कर शिक्षा नीति को लेकर चर्चा करने की मांग कर रहे थे।

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने आप विधायक पंकज पुष्कर को मार्शलों से बाहर निकलवाया
नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने मार्शलों के माफत तिमारपुर से आप विधायक पंकज पुष्कर को सदन से बाहर निकलवा दिया। दरअसल वह शिक्षा नीति को लेकर चर्चा करने की मांग कर रहे थे। सदन के दौरान आप के अंसतुष्ट विधायक पंकज पुष्कर शिक्षा बिल पर चर्चा करते हुए बच्चों के नौवीं में फेल होने का मुद्दा उठाया था, जिसे विस अध्यक्ष ने यह कहते हुए खारिज कर दिया कि महत्वपूर्ण विषयों को लेकर बुलाए गए इस सत्र में चार-पांच महीने पुराना मुद्दा नहीं उठाया जा सकता।
अध्यक्ष के कहने के बाद भी पुष्कर नहीं माने और वह इस पर चर्चा की मांग करते रहे, जिसे देख विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने मार्शल को उन्हें सदन से बाहर निकालने के आदेश दे दिया। वहीं दूसरी तरफ नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कृष्णा नगर से आप विधायक एसके बग्गा से संबंधित टेप पर नियम 54 के तहत कार्य स्थगन प्रस्ताव लाने की मांग की। इस मांग को अध्यक्ष ने अस्वीकार कर दिया, इसपर तीनों भाजपा विधायक ने अपना विरोध दर्ज करना शुरू कर दिया। तभी अध्यक्ष ने उन्हें ही मार्शल के माध्यम से बाहर करने की बात कही। इसपर तीनों विधायकों ने सदन से वाकआउट कर दिया। दरअसल कृष्णा नगर के विधायक एस के बग्गा द्वारा सीएम के नाम पर लाखों रुपये का रिश्वत मांगने का आरोप है।
विस में दो बिल पास
पुलिसया कार्रवाई पर नजर रखने व दिल्ली सरकार द्वारा दी जा रही सेवाओं को समय पर पूरा करवाने के लिए दिल्ली विधानसभा ने दो बिलों को पास किया है। दंड प्रक्रिया संहिता विधेयक, 2015 (दिल्ली संशोधन) व समयबद्ध सेवा प्रदानार्थ नागरिक अधिकार पास होने के उपराज्यपाल के पास भेजा जाएगा।
समयबद्ध सेवा प्रदानार्थ नागरिक अधिकार (संशोधन विधेयक) 2015 को पास करवाने के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि इस बिल के पास होने के बाद निम्न स्तर पर घूसखोरी को बंद करने में मदद मिलेगी। साथ ही सरकारी दफ्तर से जुड़े काम में देरी होती है तो उसे मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो अधिकारी इमानदारी से लोगों की सेवा करेंगे उन्हें फाइल में और फाइनेंशियल दोनों स्तर पर सम्मानित किया जाएगा। वहीं दंड प्रक्रिया संहिता विधेयक, 2015 (दिल्ली संशोधन) के संबंध में गृहमंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि इस बिल के पास होने के बाद पुलिसयां कार्रवाई पर नजर रख सकेंगे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top