Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आप के 40 और कांग्रेस के 92 वार्डों पर जमानत जब्त

दो साल में आधा हो गया, दिल्ली में आप का मतदान प्रतिशत।

आप के 40 और कांग्रेस के 92 वार्डों पर जमानत जब्त
X

एमसीडी चुनाव में बीजेपी की लहर में आम आदमी पार्टी (आप) कांग्रेस के कई प्रत्याशियों समेत सैकड़ों उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

एमसीडी चुनाव में कुल 2,516 उम्मीदवारों में से 70 फीसदी अपनी जमानत राशि नहीं बचा पाए। दिल्ली की सत्तारूढ़ आप के 40 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई।

वहीं, देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के 92 उम्मीदवारों ने जमानत राशि गंवा दी। लगातार तीसरी बार एमसीडी की सत्ता में काबिज होने वाली भाजपा के भी 5 उम्मीदवारों को जमानत राशि खोनी पड़ी है।

दिल्ली चुनाव आयुक्त एस के श्रीवास्तव ने पत्रकारों को बताया, करीब 1,790 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। 2012 के एमसीडी चुनावों में कुल 2,423 प्रत्याशियों में से 1,782 के जमानत जब्त हो गए थे।

श्रीवास्तव ने कहा, बीएसपी के 192, जेडी (यू) के 94, शिवसेना के 56 में 55 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। 2012 के एमसीडी चुनाव में बीएसपी के 203, बीजेपी के 18, और कांग्रेस के 26 उम्मीदवारों की जमानत राशि जब्त हो गई थी। गौरतलब है कि भाजपा ने सत्ता विरोधी लहर को मात देते हुए एमसीडी में 181 सीटें जीती हैं।

10 सालों से भाजपा

भाजपा पिछले 10 सालों से एमसीडी में सत्तारूढ़ है। 23 अप्रैल को हुए चुनाव में एमसीडी के 272 सीटों में से 270 सीटों पर वोटिंग हुई थी। दो सीटों पर वोटिंग वहां उम्मीदवारों के निधन के कारण स्थगित कर दी गई थी।

किस दल को कितनी सीटें

भाजपा को उत्तरी निगम में 64, पूर्वी नगर निगम में 47 और दक्षिण निगम में 70 सीटें मिली। वहीं आप को उत्तरी निगम में 21, पूर्वी निगम में 11 और दक्षिण में 16 सीटों पर जीत मिली है। कांग्रेस को उत्तरी निगम में 15, पूर्वी निगम में 3 और दक्षिण निगम में 12 सीटों से संतोष करना पड़ा।

कितना फायदा- कितना नुकसान

पार्टी 2017 में सीटें 2012 में सीटें कितना नफा-नुकसान?

भाजपा 181 138 +46

कांग्रेस 30 78 -48

आप 48 --

अन्य 11 56 -45

फिर से आंदोलनकारी अवतार में दिख सकती है आप

एमसीडी के नतीजों के बाद दिल्ली की सत्ता में काबिज आम आदमी पार्टी (आप) अपने पुराने अवतार की तरफ लौट सकती है।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक पार्टी नेता इस पर मंथन कर रहे हैं कि किस तरह पार्टी की पुरानी आंदोलनकारी इमेज वापस लौटाने की कोशिश की जाए। यही पार्टी की पहचान रही है और पार्टी के कई नेताओं का मानना है कि आगे की राह भी इसी मंत्र के साथ तय की जाएगी।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक जल्द ही संगठनात्मक स्तर पर बड़े बदलाव दिखेंगे साथ ही ईवीएम को लेकर पार्टी अब सबूतों के साथ सामने आने की तैयारी कर रही है। पार्टी के एक नेता के मुताबिक हम जल्द ही ईवीएम को लेकर बड़ा खुलासा करेंगे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story