Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्ली: दुष्कर्म के मामलों में 77 फीसदी आरोपी हो जाते हैं रिहा

साल 2012 से 2015 के बीच दुष्कर्म के 4030 मामले दर्ज हुए, इनमें 3732 केस अभी तक कोर्ट में लंबित हैं।

दिल्ली: दुष्कर्म के मामलों में 77 फीसदी आरोपी हो जाते हैं रिहा

नई दिल्ली. राजधानी में दुष्कर्म के मामलों में महज 7 फीसदी केस में ही कोर्ट ने फैसला सुनाया है। जिन केसों में फैसला आया है, उनमें हैरान करने वाली बात यह है कि केवल 23 फीसदी मामलों में ही आरोपियों को सजा मिली हैं।

ये भी पढ़ें : दि‍ल्‍ली वाले यहां जानें कहां मि‍लेगी रु 120/- कि‍लो दाल

वहीं 77 फीसदी मामलों में आरोपी सबूतों के अभाव और अदालत में पीड़ित द्वारा मुकर जाने के कारण छूट गए है। कई मामलों में पुलिस उपयुक्त साक्ष्य भी पेश नहीं कर पाए। ये सभी आंकडे़ दिल्ली में 2012 से 2015 के बीच के हैं। सूत्रों के अनुसार, 2012 से 2015 के बीच दुष्कर्म के 4030 मामले दर्ज हुए, इनमें 3732 केस अभी तक कोर्ट में लंबित हैं। महज 298 मामलों में ही फैसला आया है।
ये भी पढ़ें : दिल्ली कैबिनेट कर रही 15 साल में बालिग घोषित, शादी के लिए नहीं करना पड़ेगा 18 का इंतजार!

जानकारी के अनुसार, इस तरह के मामलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट की आवश्यकता है। क्योंकि अभी तक इन मामलों में सुनवाई न हो पाना चिंता का विषय हैं। दिल्ली के इन आंकड़ों को देखा जाए तो जिन मामलों में फैसला आया है। उनमें 67 लोगों को ही सजा मिली है, वहीं 231 लोग को कोर्ट ने बाइज्जत बरी कर दिया है। जिनमें कई बार पीड़िता भी अदालत में मुकर गई हैं।

नीचे की स्लाइड्स में पढ़िए, पूरी खबर-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top