Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बार्बी डॉल के जरिए बच्ची ने बताई अपने यौन उत्पीड़न की कहानी

दोषी ने अपील दायर कर कहा था कि बच्ची के निजी अंगों पर नाखून के निशान नहीं मिले।

बार्बी डॉल के जरिए बच्ची ने बताई अपने यौन उत्पीड़न की कहानी

एक पांच साल की बच्ची पर यौन उत्पीड़न के बाद क्या गुजरी होगी वो उसने एक गुड़िया के जरिए बताया। ट्रायल कोरट ने गवाही के दौरान जब एक पांच साल की बच्ची को खेलने के लिेए बार्बी डॉल दी तो उसने गुड़िया के निजी अंगों का जिक्र करते हुए बताया कि उसके साथ यौन उत्पीड़न के दौरान क्या किया गया था।

हाईकोर्ट ने इसको सबूत मानते हुए दोषी की अपील को खारिज कर दिया है और उसकी सजा को बहाल रखा है। जस्टिस एसपी गर्ग ने ये अपील कारिज की। अदालत ने कहा कि बच्ची ने साफ तौर पर बताया है कि उसके साथ क्या हुआ है। ऐसे में दोषी किसी भी प्रकार की सहानुभूति का हकदार नहीं है।
दोषी ने अपील दायर कर कहा था कि बच्ची के निजी अंगों पर नाखून के निशान नहीं मिले। अदालत ने दोषी की आंतरिक मांग को भी मजूरी नहीं दी। बच्ची की मां ने उसके सम्मान की रक्षा के लिए आंतरिक चिकित्सा जांच की अनुमति नहीं दी।
दिल्ली के नरेला इलाके में जुलाई 2014 को एक बच्ची अपने 10 साल के भाई के साथ स्कूल जा रही थी। आरोपी हनी ने बच्ची के छोटे भाई को द,स रुपए देकर दुकाने से कुछ लाने को कहा और बच्ची का अपहरण कर उससे मारपीट की और उसका यौन उत्पीड़न किया। बाद में उसने बच्ची को उसके घर वापस छोड़ दिया।
इस घटना के बाद बच्ची अपने पिता से भी दूर रहने लगी, चुप-चुप सी। आरोपी को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर गिरफ्तार किया गया था। अदालत ने बताया कि बच्ची ने सब कुछ साफ तौर पर बताया कि आरोपी ने उसके साथ क्या क्या किया
Next Story
Top