Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

41 साल से चल रही है कोर्ट में पांच पैसेे की लड़ाई!

41 साल पहले एक कंडक्टर ने गलती से एक महिला को 15 पैसे की बजाय 10 पैसे का टिकट दे दिया था

41 साल से चल रही है कोर्ट में पांच पैसेे की लड़ाई!
नई दिल्ली. आज जब देश में करोड़ों के भ्रष्टाचार मामले धड़ल्ले से हो रहे हों, ऐसे में पांच पैसे की एक लड़ाई का मामला दिल्ली हाईकोर्ट में लंबित है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह मामला एक नहीं, दो नहीं, दस नहीं बल्कि पूरे 41 सालों से चला आ रहा है।
मामला ये है कि 41 साल पहले एक कंडक्टर ने गलती से एक महिला को 15 पैसे की बजाय 10 पैसे का टिकट दे दिया था। टिकट चेकर ने कंडक्टर की गलती पकड़ ली और इस लापरवाही के लिए उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया।
तब कंडक्टर ने अपनी नौकरी पाने के लिए अदालत का सहारा लिया। श्रम अदालत और हाईकोर्ट एक बार इस मामले में कंडक्टर के पक्ष में फैसला दे चुकी है लेकिन डी.टी.सी ने फिर से न्यायालय में पुर्नविचार याचिका दायर कर दी है, जिस वजह से यह मामला खिंचता चला जा रहा है।
अब तो हालात ऐसे हो गए हैं कि अदालत चाहे तो भी इस कंडक्टर को नौकरी पर नहीं रखवा सकती क्योंकि वह रिटायरमेंट की उम्र पार कर चुका है। लिहाजा, अब कंडक्टर पेंशन के सुविधा की मांग कर रहा है। उसने कहा है कि कम से कम उसका मामला जब तक निपटे, तब तक उसे पेंशन की सुविधा तो दे दी जाए।
जबकि डीटीसी का कहना है कि वो इस मामले के खत्म होने तक याचिकाकर्ता को नौकरी से जुड़ा कोई लाभ नहीं देगी। साथ ही ये भी कहा कि जिस समय पेंशन की योजना शुरु की गई थी, उस वक्त वह नौकरी पर नहीं था, ऐसे में पेंशन की सुविधा उसे नहीं दी जा सकती।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलोकरें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top