Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नोटबंदीः बैंक ने दिए 20 हजार के सिक्के, कंधे पर रखकर लाया घर

इम्तियाज पब्लिक रिलेशंस कंपनी में काम करते हैं।

नोटबंदीः बैंक ने दिए 20 हजार के सिक्के, कंधे पर रखकर लाया घर
नई दिल्ली. जहां एक ओर लोग बैंकों से पैसे न मिल पाने की वजह से परेशान हैं, वहीं दूसरी ओर एक ऐसा भी शख्स है जो पैसे मिलने के बाद भी परेशान से दिख रहा है। 4 घंटे लाइन में लगने के बाद भी दिल्ली के जसोल में रहने वाले इम्तियाज आलम के साथ कुछ ऐसी ही घटना घटी जिसे सुनकर हैरान रह जाएंगे आप। आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला
दरअसल, दिल्ली के बैंक में पैसे निकलने के लिए इम्तियाज आलम काफी देर से लाइन में खड़े थे। वह जसोला के जामिया को-ऑपरेटिव बैंक से कुछ रुपये निकालने गए थे, लेकिन कैश की कमी के चलते उन्हें 20 हजार रुपये का भुगतान 10 रुपये के सिक्कों के रूप में किया गया। इन 10-10 रुपये के सिक्कों का वजन 15 किलो था। चार घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद जब इम्तियाज का नंबर आया तो बैंक के पास केश खत्म हो गया था। बैंक कर्मचारियों ने इम्तियाज से पूछा कि बैंक में कैश की कमी है। क्या आप 10-10 के सिक्के लेना चाहेंगे? इस पर इम्तियाज ने बैंक मैनेजर को बताया कि वो ज्यादा देर तक कतार में खड़े नहीं हो सकते हैं। उन्होंने 10 -10 का सिक्का लेने में अपनी सहमति जतायी।
पब्लिक रिलेशंस कंपनी में काम करने वाले इम्तियाज ने बताया, 'मैं मैनेजर से लगातार अनुरोध करता रहा, जिसके बाद उन्होंने मेरे सामने यह पेशकश रखी थी। बैंक मैनेजर ने बताया कि RBI से बहुत ही कम पैसा बैंक में आ रहा है। उन्होंने मुझसे सिक्कों में 20 हजार रुपये लेने के लिए पूछा तो मैंने झट से हां कर दी। क्योंकि मुझे भी एक आधिकारिक टूर के लिए गोवा जाना था। 15 मिनट में मेरे पास सिक्के आ गए, मैंने सिक्कों को बैग में रखा और कंधे पर बैग टांगकर घर वापस आ गया।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top