Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दिल्लीः जहरीली हवा के चलते 1800 स्कूलों को किया गया बंद

वायु गुणवत्ता मापने के मानक पीएम 2.5 का स्तर सुरक्षित स्तर से 13 गुणा तक बढ़ा हुआ था

दिल्लीः जहरीली हवा के चलते 1800 स्कूलों को किया गया बंद
नई दिल्ली. दिवाली की रात से दिल्ली की हवा जहरीली हो गई है। आमतौर पर सुबह दिल्ली का मौसम सुहावना हुआ करता था लेकिन पिछले एक हफ्ते से इस हवा में जहर खुल गई है। इसके चपेट में पूरी दिल्ली आ चुकी है। खासतौर पर इसका सबसे ज्यादा असर बच्चों और बुजुर्गों पर पड़ रहा है। इसी को देखते नगर निगम द्वारा संचालित 1800 स्कूलों को बंद करने का आदेश दिया गया है।
दिल्ली में प्रदूषण के स्तर पर नजर रखने वाली एजेंसी से प्राप्त आंकड़ों से पता चलता है कि दिल्ली के आनंद विहार में करीब सुबह 9 बजे पार्टिकुलेट मैटर या पीएम 10 की सांद्रता 1200 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रही, जबकि इसका सुरक्षित स्तर 100 माइक्रोग्राम है। वायु गुणवत्ता मापने के मानक पीएम 2.5 का स्तर सुरक्षित स्तर से 13 गुणा तक बढ़ा हुआ था।
हवा में मौजूद इन प्रदूषक कणों की अत्याधिक मात्रा से ज्यादा देर संपर्क में रहने के कारण आपको सांस की गंभीर बीमारियां होने का डर है। समाचार एजेंसी एएफपी से दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के प्रवक्ता योगेंद्र मान ने बताया, 'दिल्ली में कोहरे की वजह से शनिवार को सभी निगम स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया गया है।'
राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता हाल के वर्षों में लगातार खराब होती रही है। इसकी एक बड़ी वजह तेजी से बढ़ते शहरीकरण को माना जा रहा है, जिससे डीजल इंडन्स, कोयला चलित विद्युत इकाई और औद्योगिक उत्सर्जन में इजाफा हुआ है।
इसकी एक वजह खेतों में फसलों की पराली जलाने और लकड़ी या कोयले के चूल्हों से निकलने वाले धुएं को भी माना जाता है। हालांकि दिल्ली में कोहरे का यह सिलसिला रविवार रात दीवाली से ही शुरू हुआ, जब लाखों पटाखों से निकले धुएं ने शहर को घेर लिया। शुक्रवार को पर्यावरण मंत्रालय ने भी इस संबंध में पड़ोसी राज्यों के अधिकारियों की बैठक बुलाई थी, जिसमें प्रदूषण नियंत्रण के कदमों पर चर्चा हुई।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top