Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

परवेश मान गैंग के दो शूटर गिरफ्तार

नई दिल्ली में हत्या की कई वारदातों में शामिल रहे कुख्यात गैंगस्टर परवेश मान गिरोह के दो शूटरों को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। यह गैंग मकोका केस में भी वांटेड रहा है। गिरफ्तार किये गये दोनों बदमाशों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। इनके नाम सचिन मान उर्फ कुलदीप और युधबीर उर्फ नरेन्द्र मान के रुप में हुई है। इन पर हत्या के साथ जबरन वसूली के मामले भी दर्ज थे।

परवेश मान गैंग के दो शूटर गिरफ्तार
X
रेलवे को चूना लगाने वाले बदमाश गिरफ्तार (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली में हत्या की कई वारदातों में शामिल रहे कुख्यात गैंगस्टर परवेश मान गिरोह के दो शूटरों को स्पेशल सेल ने गिरफ्तार किया है। यह गैंग मकोका केस में भी वांटेड रहा है। गिरफ्तार किये गये दोनों बदमाशों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित था। इनके नाम सचिन मान उर्फ कुलदीप और युधबीर उर्फ नरेन्द्र मान के रुप में हुई है। इन पर हत्या के साथ जबरन वसूली के मामले भी दर्ज थे।

डीसीपी संजीव कुमार यादव ने बताया कि दोनों शूटरों को एसीपी जसवीर सिंह के देखरेख और इंस्पेक्टर पंकज कुमार और कुलदीप यादव के टीम ने गिरफ्तार किया है। दिनदहाड़े विरेंद्र मान उर्फ काला की गत वर्ष नरेला इलाके में हत्या जितेन्द्र गोगी गिरोह ने की थी। उसके बाद से ही परवेश मान की दुश्मनी गोगी गैंग से और बढ़ गई थी। परवेश मान के सदस्यों ने अशोक विहार में सूरज प्रकाश की निर्मम हत्या कर दी थी। परवेश मान शुरुआत में नीरज बवानिया गैंग के साथ जुड़ा था।

लेकिन बाद में खुद का गिरोह बना लिया। उसके बाद से दिल्ली में हत्या, हमला, हथियार की तस्करी की घटना को अंजाम देने लगा। इसी बीच 18 मार्च को स्पेशल सेल की टीम को सूचना मिली कि दोनों शूटर मध्य-प्रदेश के एक होटल में छिपे हुये हैं। पुलिस ने छापेमारी कर भोपाल से दोनों को धर दबोचा। युद्धबीर उर्फ नरेंद्र मान परवेश मान का चचेरा भाई है। उसका 2012 के एक प्रॉपर्टी विवाद से अपने आपराधिक करियर की शुरुआत की थी। सचिन मान उसके बचपन का दोस्त हैं।

वह भी 2014 में गिरोह में शामिल हुआ था। सचिन के पिता दिल्ली पुलिस में थे। 12वीं के बाद उसने धौला कुआं के वेंकटेश्वर कॉलेज में दाखिला लिया था। उसने कॉलेज का छात्र संघ प्रधान का चुनाव भी जीता था। लेकिन इसी दौरान वह गलत संगत में पड़ गया और शराब का आदि हो गया। इसके खिलाफ ग्रेटर कैलाश, शालीमार बाग और अशोक विहार थाने में केस दर्ज पाये गये हैं। वहीं नरेंद्र मान पर भी शाहबाद डेयरी, समयपुर बादली, क्राइम ब्रांच, ग्रेटर कैलाश, नेताजी सुभाष पैलेस, अशोक विहार और पश्चिम विहार थानों में आठ केस दर्ज पाये गये हैं।

Next Story
Top