Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जामिया वीडियो पर विपक्ष ने मोदी सरकार को घेरा, भाजपा ने दी ये सफाई

दिल्ली की जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को छात्रों पर हुई बर्बरता से जुड़ा एक वीडियो सामने आया है। जिसके बाद विपक्षी नेताओं ने बीजेपी को घेरना शुरू कर दिया है।

जामिया वीडियो पर विपक्ष ने मोदी सरकार को घेरा, भाजपा ने दी ये सफाईजामिया वीडियो

दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को छात्रों पर हुई बर्बरता से जुड़ा एक वीडियो सामने आया है। जिसमें पुलिसकर्मी पढ़ाई कर रहे छात्रों पर लाठीचार्ज करते हुए नजर आ रहे हैं। वीडियो वायरल होने लोगों में हड़कंप मच गया।

इस वीडियो में दिखाया गया कि पुलिसकर्मी जामिया लाइब्रेरी में बैठे छात्रों पर किस तरीके से लाठीचार्ज कर रहे हैं। वीडियो के वायरल होने पर विरोधियों ने मोदी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। साथ ही कई सवाल भी खड़े कर दिए हैं। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने इस वीडियो ट्वीट करते लिखा कि छात्रों पर खुलेआम बर्बरतापूर्वक लाठचार्ज किया जा रहा है।

प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को घेरा

अगर सरकार इस पर कोई एक्शन नहीं लेती है तो सरकार की नीयत पूरी तरह से देश के सामने आ जाएगी। साथ ही उन्होंने गृह मंत्री और दिल्ली पुलिस पर आरोप लगाया कि उन्होनें झूठ बोला था कि लाइब्रेरी के भीतर जामिया के छात्रों की पिटाई नहीं की गई थी।

उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि देखिए किस तरह दिल्ली पुलिस लाइब्रेरी में छात्रों को अंधाधुंध पीट रही है। एक लड़का किताब दिखा रहा है लेकिन पुलिसवाला लाठियां चलाए जा रहा है। उन्होंने कहा गृह मंत्री और दिल्ली पुलिस ने झूठ बोला कि उन्होंने लाइब्रेरी में घुसकर किसी को नहीं पीटा। प्रियंका ने कहा कि जामिया के इस वीडियो को देखने के बाद अगर कोई कार्रवाई नहीं की जाती तो सरकार की नीयत पूरी तरह से देश के सामने आ जाएगी।

जामिया हिंसा के लिए अमित शाह जिम्मेदार

वहीं कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा कि जामिया हिंसा के लिए गृह मंत्री ज़िम्मेदार हैं। उनकी मर्ज़ी के बिना पुलिस ऐसा कदम नहीं उठा सकती। अमित के सीने में दिल है तो इनके खिलाफ कार्रवाई करें। वरना पूरा देश समझेगा कि जो कुछ हो रहा है उसके लिए अमित शाह ज़िम्मेदार है।

भाजपा ने दी ये सफाई

जिसपर भाजपा केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि जेएनयू हो या जामिया और भी बहुत सारे संस्थान हैं, जो बहुत अच्छे संस्थान हैं। वहां से बहुत सारे अच्छे लोग पढ़ाई कर के निकले हैं। मैं शुरु से इस बात का पक्षधर रहा हूं कि जो भी उन संस्थानों की गरिमा को गिराने का काम करेगा उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story
Top