Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दंगा पीड़ितों को मुआवजा के लिए विशेष दो दिवसीय सत्यापन अभियान आज से

नई दिल्ली के उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा पीड़ितों के मुआवजे के लिए दिल्ली सरकार आज से दो दिवसीय सत्यापन अभियान चलाएगी। इस बात की जानकरी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रैसवार्ता में दी है।

उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों सिंगापुर से हुई थी फंडिंग, पुलिस को आरोपपत्र दाखिल करने के लिए और समय मिला
X
दिल्ली हिंसा

नई दिल्ली के उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा पीड़ितों के मुआवजे के लिए दिल्ली सरकार आज से दो दिवसीय सत्यापन अभियान चलाएगी। इस बात की जानकरी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को प्रैसवार्ता में दी है।

प्रैसवार्ता में सिसोदिया ने बताया कि सरकार कोअब तक 1700 मुआवजा आवेदन मिले हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा प्रभावित क्षेत्रों में पीड़ितों के राहत और पुनर्वास का काम काफी तेजी से चल रहा है। दंगा प्रभावित इलाकों में समुचित संख्या में एसडीएम तैनात किए गए हैं। पीड़ित परिवारों को मुआवजा फॉर्म दिए जा रहे हैं। पीड़ित परिवारों को मुआवजा प्रदान करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। तत्काल नकद राहत के रूप में 25 हजार रुपये दिए जा रहे हैं। साथ ही, सबसे क्षतिपूर्ति फॉर्म भी एकत्र किए जा रहे हैं, जिसके आधार पर सभी पीड़ितों को पूरी मुआवजा राशि का भुगतान किया जाएगा।

सिसोदिया ने बताया कि वरिष्ठ आईएएस अफसरों के नेतृत्व में यह सत्यापन अभियान चलाया जाएगा।

आज से शुरू होने वाले इस दो दिवसीय सत्यापन अभियान का नेतृत्व छह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी करेंगे। हम इस सत्यापन प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करना चाहते हैं ताकि सभी दंगा पीड़ितों को पूर्ण मुआवजा राशि अतिशीघ्र जारी कर सकें। उन्होंने कहा कि कुछ आवेदनों में दोहराव तथा अन्य कारणों से यह सत्यापन ड्राइव जरूरी है। दिल्ली सरकार चाहती है कि सभी दंगा पीड़ितों को पूरी मुआवजा राशि तत्काल मिल जाए, ताकि वे अपने सामान्य जीवन को पटरी पर ला सकें।

-पीटीएम में 55 फीसदी अभिभावकों ने लिया हिस्सा

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि 4 और 5 मार्च, 2020 को उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा प्रभावित स्कूलों में पैरेंट टीचर मीटिंग का आयोजन किया था। इनमें लगभग 55 प्रतिशत अभिभावकों की महत्वपूर्ण भागीदारी हुई। ऐसी मीटिंग का उद्देश्य अभिभावकों के मन से डर खत्म करके उन्हें अपने बच्चों को फिर से स्कूल भेजने के लिए प्रोत्साहित करना था। वहीं शुक्रवार को दिन में मनीष सिसोदिया ने ईदगाह कैम्प का भी दौरा करके दंगा प्रभावित परिवारों के साथ बात की और उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिया।

-दंगा पीड़ित 90 प्रतिशत लोगों के भरे जा चुके हैं फार्म- गोपाल राय

दिल्ली के श्रम मंत्री और बाबरपुर विधानसभा से विधायक गोपाल राय ने शुक्रवार को कैंपों में रह रहे लोगों को सरकार की ओर से दी जा रही सहूलियतों का जायजा भी लिया। उन्होंने कहा कि दंगा पीड़ित करीब 90 प्रतिशत लोगों के फार्म भरे जा चुके हैं और उनमें शीघ्र ही मुआवजे का वितरण किया जाएगा। अभी दंगा प्रभावित 10 प्रतिशत लोगों फार्म नहीं भरे जा सके हैं। बचे हुए लोग या तो घर चले गए हैं या फिर कहीं और जाकर रह रहे हैं और उस इलाके के लोगों के संपर्क में नहीं आ पा रहे हैं। स्थानीय पुलिस को लिए बिना एसटीएफ को सर्च के लिए जाने से लोगों को हो रही परेशानी पर गोपाल राय ने डीसीपी से बात कर कहा है कि जब भी एसटीएफ की टीम जाए, तो अपने साथ स्थानीय पुलिस को लेकर अवश्य जाए, ताकि लोगों में किसी तरह की अनावश्यक गलतफहमी न पैदा हो। उन्होंने कहा कि रात में हुई बारिश का पानी कैंप में भरने से लोगों को दिक्कतों को सामना करना पड़ा, तो वहां फर्श पर लकड़ी के गत्ते बिछा कर समस्या को दूर किया गया।

Next Story