Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Coronavirus : केजरीवाल सरकार ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा संक्रमण के मामले बढ़ने के दौरान मौत के आंकड़े को कम रखना होगा

केजरीवाल सरकार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस ( Press Conference) के दौरान कहा कि केस बढ़ रहें हैं तो चिंता की बात नहीं है। लेकिन मौत के आंकड़े को कम रखना होगा।

केजरीवाल सरकार की कोरोना पर प्रेस कॉन्फ्रेंस, कहा बढ़ोतरी केस के बीच मौत के आंकड़े को कम रखना होगा
X

देश में कोरोना वायरस का बढ़ता संक्रमण एक चिंता का विषय बनता जा रहा है। इस बीच केजरीवाल सरकार ने एक बार फिर कोरोना को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस (Press Conference) की है। इस दौरान उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में छूट देने से कोरोना केस में इजाफा देखने को मिल रहा है।

हालांकि यह चिंता की बात नहीं है। सिर्फ हमें यह कोशिश करनी है कि मौत के आंकड़ों में गिरावट बनी रहे। साथ ही यह भी कोशिश करनी है कि इतने गंभीर केस ना हो कि अस्पताल ही भर जाए। केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में अबतक 13,000 से अधिक केस हैं। इसमें से अबतक 6,000 से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं।

अधिकांश अस्पतालों में ऑक्सीजन और वेंटिलेटर की सुविधा

दिल्ली के सरकारी अस्पतालों (Government Hospitals) में 3829 बेड हैं। इसमें से अभी तक 1,500 बेड इस्तेमाल हुए। इसमें से अधिकांश अस्पतालों में ऑक्सीजन की सुविधा है। हमारे पास 200 से ज्यादा वेंटिलेटर हैं। इसमें से अब तक 11 बेड का इस्तेमाल हुए हैं।

इसके अलावा, निजी अस्पतालों में 600 से अधिक बेड कोरोना (Corona Bed) रिजर्व हैं। जबकि आज यानी सोमवार से निजी अस्पताल में 2000 से ज्यादा बेड रिजर्व होंगे। इस बीच दिल्ली के एक प्राइवेट अस्पताल ने कोरोना मरीज को बेड न देने की सूचना मिली।

Also Read-62 दिनों के बाद पहली फ्लाइट दिल्ली से पहुंची पुणे, यात्रियों ने कहा- हमने डर के बीच सावधानी बरती

हमने उस अस्पताल को नोटिस भेजकर बेड न देने का जवाब मांगा है। किसी भी मरीज के साथ ऐसा नहीं कर सकते हैं। जल्द ही हम एक ऐसा सिस्टम लाएंगे ताकि लोग जान सकें कि किस अस्पताल में कितने बेड खाली हैं।

कम लक्षण वालों का घर पर हो रहा इलाज

सीएम ने बताया कि दिल्ली में सबसे ज्यादा केस ऐसे आ रहे हैं जिसमें कोरोना के लक्षण काफी कम हैं या फिर लक्षण हैं ही नही। जिस व्यक्ति में लक्षण काफी कम है उन्हें हम घरों में पर रख कर इलाज करवा रहे हैं। अभी तक 3,000 से अधिक लोगों का घर पर इलाज हो रहा है।

केजरीवाल ने बताया कि 17 मई से से लॉकडाउन में छूट दी गई थी। तब दिल्ली में 9755 केस थे। वहीं केस बढ़कर आज 13,000 को पार कर चुका है। यानी एक हफ्ते में साढ़े तीन हजार मरीज बढ़े हैं। हालांकि बढ़ते केस के बीच 2,500 मरीज ठीक होकर चले गए।

और पढ़ें
Priyanka Kumari

Priyanka Kumari

Jr. Sub Editor


Next Story