logo
Breaking

चीखते रहे परिजन, लेकिन डॉक्टरों को नहीं आई दया

रायगढ़ जिला अस्पताल में प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है, लापरवाही के चलते एक युवक की मौत हो गई।

चीखते रहे परिजन, लेकिन डॉक्टरों को नहीं आई दया
जिला अस्पताल में प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है, लापरवाही के चलते एक युवक की मौत हो गई। सड़क हादसे में घायल युवक सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन वहां डॉक्टर मौजूद नहीं थे। डॉक्टर नहीं होने से घायल युवक का उपचार नहीं हो पाया और उसकी सांसे थम गई। वहीं, मामले को लेकर परिजनों का कहना है कि अस्पताल प्रबंधन को बार-बार डॉक्टर से उपचार करवाने के लिए कहा गया, लेकिन वे नहीं सुने और सुबह लगभग 10 बजे युवक की मौत हो गई।
मिली जानकारी के अनुसार सराईपाली बरमकेला रोड में बुधवार के देर शाम एक्सीडेंट हुआ था जिसे रात करीब 11:00 बजे के आस-पास अस्पताल लाया गया। तब से उसको किसी डॉक्टर ने एक बार भी नहीं देखा और सुबह उसकी मौत हो गई।
सहायक अस्पताल अधीक्षक हवेली उरांव ने बताया कि परिजनों द्वारा लगाया आरोप निरर्थक है। मृतक निर्भय इक्का जोकि जशपुर का रहने वाला था, उसकी देर शाम दुर्घटना होने के कारण करीब रात के 11:12 बजे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस हादसे में उसके सर में गहरी चोट आई थी जिसके कारण उसकी मौत हुई है। अस्पताल द्वारा लगातार उसका इलाज किया जा रहा था।
Share it
Top