Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

कृषि के लिए बांधो से पानी छोड़ा जाएगा कल से, सभी बाँध में पर्याप्त पानी

प्रदेश के सभी बांधो में पर्याप्त पानी की आवक होने के बाद अब जल संसाधन विभाग ने राहत की सांस लेते हुए कृषि के लिए पानी छोड़ने का निर्णय लिया है।

कृषि के लिए बांधो से पानी छोड़ा जाएगा कल से, सभी बाँध में पर्याप्त पानी

प्रदेश के सभी बांधो में पर्याप्त पानी की आवक होने के बाद अब जल संसाधन विभाग ने राहत की सांस लेते हुए कृषि के लिए पानी छोड़ने का निर्णय लिया है। अच्छी बारिश के कारण ज्यादातर बांधों में पानी लबालब भरा हुआ है। प्रदेश में कुछ तहसीलों में अच्छी बारिश न होने के कारण वहां की स्थिति खराब है और बोनी पूरी नहीं हो सकी है।

ऐसे स्थानों पर ही सबसे पहले बांधों से पानी दिया जाएगा। इसके लिए सिंचाई एवं कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने खरीफ फसल की सिंचाई हेतु महानदी परियोजना समूह के जलाशयों से पानी छोड़े जाने के निर्देश रविवार दिए हैं।

उन्होंने कहा, पेयजल, निस्तारी एवं अन्य आवश्यक उपयोग की मात्रा को सुरक्षित रख कर किसानों को सिंचाई हेतु शीघ्र पानी प्रदान किया जाए, ताकि वे खरीफ की फसल अच्छी तरह से ले सकें। महानदी परियोजना समूह के जलाशयों में क्रमशः रविशंकर जलाशय (गंगरेल डैम) में 90 प्रतिशत, दुधावा जलाशय में 64 प्रतिशत, मुरुमसिल्ली जलाशय में 46 प्रतिशत एवं सोंढूर जलाशय में 92 प्रतिशत जलभराव की स्थिति है।
महानदी जलाशय के कुछ सिंचित क्षेत्र बलौदाबाजार, भाटापारा एवं आरंग में खंड वर्षा के कारण किसानों ने पानी की मांग कृषि मंत्री श्री अग्रवाल से की थी। किसानों की मांगों को गंभीरता से लेते हुए श्री अग्रवाल ने विभागीय अधिकारियों से जलभराव की स्थिति की जानकारी ली, उसके पश्चात उन्होंने किसान हित का यह निर्णय लिया।

नहर में छोड़ा जाएगा पानी

इस संबंध में मुख्य जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता एसवी भागवत ने बताया कि जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के निर्देश पर खरीफ सिंचाई 2018 हेतु उपरोक्त जलाशयों से नहरों में पानी छोड़ा जाएगा। सोमवार को प्रातः 8 बजे से महानदी मुख्य नहर में जल प्रदाय प्रारंभ होगा।
Next Story
Share it
Top