logo
Breaking

मतगणना परिसर होगा ड्रोन कैमरे की कैद में, अधिकारियों-कर्मचारियों को भी एक से दूसरे स्थान पर जाने लेनी होगी अनुमति

विधानसभा चुनाव के नतीजे आने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। चुनाव आयोग भी मतगणना की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। एक ओर जहां मतगणना में सुरक्षा को लेकर काफी सख्ती बरती जा रही है। वहीं किसी भी तरह की चुक से बचने के लिए चुनाव आयोग पहली बार ड्रोन कैमरे से पूरे मतगणना परिसर से निगरानी रखेगा।

मतगणना परिसर होगा ड्रोन कैमरे की कैद में, अधिकारियों-कर्मचारियों को भी एक से दूसरे स्थान पर जाने लेनी होगी अनुमति
विधानसभा चुनाव के नतीजे आने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। चुनाव आयोग भी मतगणना की तैयारियों को अंतिम रूप देना शुरू कर दिया है। एक ओर जहां मतगणना में सुरक्षा को लेकर काफी सख्ती बरती जा रही है। वहीं किसी भी तरह की चुक से बचने के लिए चुनाव आयोग पहली बार ड्रोन कैमरे से पूरे मतगणना परिसर से निगरानी रखेगा।
इसका मतलब यह हुआ कि एक टेबल में बैठा कर्मचारी दूसरी टेबल पर बैठे कर्मचारी के पास तक नहीं जा सकेगा। अगर किसी अधिकारी या कर्मचारी को किसी दूसरे टेबल पर या कहीं जाना भी होगा तो पहले इजाजत लेनी होगी। इधर सुरक्षा को और सख्त करते हुए इस बार पूरे मतगणना स्थल की ड्रोन कैमरे से निगरानी रखी जाएगी। इसके अलावा मतगणना स्थल के आसपास कई स्तर का सुरक्षा घेरा रखा जाएगा।
छत्तीसगढ़ सहित पांच राज्यों मध्यप्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम में संपन्न हो चुके विधानसभा चुनाव का परिणाम कल यानी 11 दिसंबर को सामने आ जाएंगे। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू होगी और सुबह 9 बजे से ही रूझान आने शुरू हो जाएंगे।
कल आने वाले चुनाव परिणाम को लेकर एक ओर जहां राजनीतिक दलों और पार्टी प्रत्याशियों की दिलों की धड़कनें तेज हो गई है। वहीं आम जनता में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। अभी तक के एग्जिट पोल में किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत मिलने का दावा नहीं किया गया है।
Share it
Top