Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

रमन सिंह की सुरक्षा में कटौती पर टीएस सिंहदेव का बड़ा बयान, कहा - हम दिल्ली से सीख रहे हैं

हम लोग दिल्ली से सीख रहे हैं। इस लिए यहां कुछ लोगों की सुरक्षा में कटौती की गई है। उन्होंने कहा है कि दिल्ली महसूस कर रही है कि देश में सुरक्षित माहौल है। सुरक्षा को लेकर देशभर में अच्छा वातावरण बन रहा है।

रमन सिंह की सुरक्षा में कटौती पर टीएस सिंहदेव का बड़ा बयान -कहा - हम दिल्ली से सीख रहे हैंTS Singh Deo statement on Raman Singh's security cuts, we are learning from Delhi

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह की सुरक्षा में कटौती को लेकर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बड़ा बयान दिया है। सिंहदेव ने कहा कि दिल्ली में भी केंद्र सरकार ने कुछ लोगों की सुरक्षा में कटौती की है। हम लोग दिल्ली से सीख रहे हैं। इस लिए यहां कुछ लोगों की सुरक्षा में कटौती की गई है। उन्होंने कहा है कि दिल्ली महसूस कर रही है कि देश में सुरक्षित माहौल है। सुरक्षा को लेकर देशभर में अच्छा वातावरण बन रहा है। सुरक्षा की अब उतनी जरूरत नहीं है।

बता दें कि पूर्व सीएम रमन सिंह की सुरक्षा में कटौती की गई है। रमन सिंह को पहले जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त थी। अब उन्हें सिर्फ जेड सुरक्षा मिलेगी। इसके साथ ही पूर्व सीएम के परिवार के लोगों की सुरक्षा में भी कटौती की गई है। उनके बेटे अभिषेक सिंह, बहू ऐश्वर्या सिंह, पत्नी वीणा सिंह और बेटी अस्मिता गुप्ता की सुरक्षा में कटौती की गई है।

बीजेपी ने लगाया बदले की राजनीति का आरोप - बता दें कि केंद्र में गांधी परिवार की सुरक्षा में कटौती का मुद्दा गरमाया हुआ है। कांग्रेसी लगातार इसको लेकर प्रर्दशन कर रहे हैं। मंगलवार को संसद में एसपीजी सुरक्षा संशोधन बिल भी पास हो गया। वही अब छत्तीसगढ़ में पूर्व सीएम रमन सिंह और उनके परिवार के लोगों की सुरक्षा में कटौती की गई है। इसको लेकर प्रदेश में राजनीति गरमा गई है। बीजेपी ने इस पर ऐतराज जताया है। बीजेपी प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने इसे बदले की राजनीति बताया है। उन्होंने कहा है कि केंद्र में गांधी परिवार की सुरक्षा में कटौती की गई है उसके बदले में अब यहां रमन सिंह की सुरक्षा में कटौती की गई है। उन्होंने कहा कि हमने बदलापुर की राजनीति का जो आरोप लगाया था सरकार पर अब उसकी परिभाषा परिपूर्ण हो गया है।

इस मामले को लेकर नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि नक्सली क्षेत्रों में नेताओं को लगातार दौरा करना पड़ता है इसलिए उन्हें सुरक्षा प्रदान की गई थी। उनकी सुरक्षा को कम करना आने वाले समय के लिए खतरे की घंटी है। उन्होंने कहा है कि हम मांग करेंगे कि सुरक्षा व्यवस्था यथावत रहनी चाहिए।

Next Story
Share it
Top