Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ के इस पुरातत्वविद ने खोजे थे 84 खंभे, सुप्रीम कोर्ट ने फैसले में रिपोर्ट को माना

अयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले में छत्तीसगढ़ के पुरातत्वविद अरुण कुमार शर्मा की बड़ी भूमिका रही है।

छत्तीसगढ़ के इस पुरातत्वविद ने खोजे थे 84 खंभे, सुप्रीम कोर्ट ने रिपोर्ट को मानाThis archaeologist Arun Kumar Sharma had discovered 84 pillars in Ayodhya case

रायपुर। अयोध्या विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले में छत्तीसगढ़ के पुरातत्वविद अरुण कुमार शर्मा की बड़ी भूमिका रही है। वर्ष 1982 में अरुण कुमार शर्मा ने अपनी टीम के साथ अयोध्या के विवादित ढांचे की छह माह तक खुदाई की और उस रिपोर्ट ने साबित किया कि वहां मंदिर के ही अवशेष हैं। शनिवार को जब पूरे देश की निगाहें सबसे बड़े फैसले पर टिकी थी, तो अरुण कुमार शर्मा अपने घर पर शांति से टीवी देख रहे थे। मानो उन्हें यकीन हो कि फैसला क्या होगा, किन आधारों पर सुनाया जाएगा।

फैसले के बाद हरिभूमि से बात करते हुए अरुण कुमार शर्मा ने बताया कि अपनी रिपोर्ट में उन्होंने इसका उल्लेख किया था कि विवादित ढांचे की खुदाई में 84 खंभे और उन खंभों पर सनातनी आस्था का प्रतीक कमल का चिन्ह मिला है। आम तौर पर मंदिरों में स्थापित किए जाने वाले मकर प्रणार के अवशेष भी मिले, जो यह साबित करते थे कि वहां मंदिर था।

अशोक सिंघल ने बुलाया था अयोध्या -

अरुण कुमार शर्मा ने बताया कि विवादित ढांचे का कोई हल नहीं निकलता देखकर आर्कियोलॉजिकल सर्वे की मांग उठी। उस दौर में ऐसे लोगों को तलाशा गया जिनकी पुरातत्व में अच्छी पकड़ हो और जो सच साबित कर सकता हो। इसी बीच किसी ने वीएचपी नेता अशोक सिंघल को उनके नाम का सुझाव दिया। तब सिंघल ने उनसे संपर्क किया और उनसे अयोध्या आने का आग्रह किया। बाद में सर्वे की टीम में भी उन्हें शामिल किया गया और 1982 में इसी टीम ने आर्कियोलॉजिकल सर्वे कर रिपोर्ट सौंपी थी।

Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top