logo
Breaking

राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासी महिला प्रसव पीड़ा से तड़पती रही, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची महतारी एक्सप्रेस, जच्चा-बच्चा की दर्दनाक मौत

प्रसव पीड़ा में तड़पते जच्चा-बच्चा की दर्दनाक मौत हो गई. सूचना के बाद भी महतारी एक्सप्रेस-102 नहीं पहुंची. मामला कुकदूर सेक्टर के सुदूर वनांचल क्षेत्र पिपरटोला कछार का है. ये मामला सामने आते ही जिला प्रशासन की मिशन होम डिलीवरी की पोल खुल गई है.

राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासी महिला प्रसव पीड़ा से तड़पती रही, सूचना के बाद भी नहीं पहुंची महतारी एक्सप्रेस, जच्चा-बच्चा की दर्दनाक मौत

कवर्धा. प्रसव पीड़ा में तड़पते जच्चा-बच्चा की दर्दनाक मौत हो गई. सूचना के बाद भी महतारी एक्सप्रेस-102 नहीं पहुंची. मामला कुकदूर सेक्टर के सुदूर वनांचल क्षेत्र पिपरटोला कछार का है. ये मामला सामने आते ही जिला प्रशासन की मिशन होम डिलीवरी की पोल खुल गई है. राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा जनजाति की महिला बुधरिया बैगा प्रसव पीड़ा से तड़पती रही.

महतारी एक्सप्रेस में सूचना देने के बाद भी अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंगा. सूचना के बाद भी अधिकारियों की लापरवाही के चलते गर्भवती बुधरिया ने प्रसव पीड़ा से कराहते हुए दम तोड़ दिया. मामले में सीएमएचओ ने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि वाहन खराब है. संजीवनी एक्सप्रेस-108 को रिपेयरिंग के लिए भेजा गया है.

Loading...
Share it
Top