logo
Breaking

पिता को मुखाग्नि देकर श्मशान घाट से सीधे मतदान केंद्र पहुंचा शिक्षक, दुःख की घड़ी में भी पूरी की लोकतंत्र की जिम्मेदारी

पिता के शव को मुखाग्नि देकर शमशान घाट से सीधे मतदान केंद्र पहुंचे शिक्षक की सबने जमकर तारीफ की. शिक्षक धनंजय पाण्डेय बिलासपुर के मल्टीपरपस स्कूल में पदस्थ हैं.

पिता को मुखाग्नि देकर श्मशान घाट से सीधे मतदान केंद्र पहुंचा शिक्षक, दुःख की घड़ी में भी पूरी की लोकतंत्र की जिम्मेदारी

बिलासपुर. पिता को मुखाग्नि देकर शमशान घाट से सीधे मतदान केंद्र पहुंचे शिक्षक की सबने जमकर तारीफ की. शिक्षक धनंजय पाण्डेय बिलासपुर के मल्टीपरपस स्कूल में पदस्थ हैं. श्मशान घाट से सीधे पोलिंग बूथ पहुँचने पर सभी हैरान रह गए. शिक्षक धनंजय पाण्डेय ने दुःख की घड़ी में भी लोकतंत्र की जिम्मेदारी पूरी की.

Share it
Top