Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

बच्चों को सूखा राशन देने स्कूल बुलाकर शिक्षक नदारद, कलेक्टर ने किया निलंबित

छात्र-छात्राओं को घर-घर जाकर 3 एवं 4 अप्रैल को मध्यान्ह भोजन के सूखा राशन देने का है आदेश। पढ़िए पूरी खबर-

बच्चों को सूखा राशन देने स्कूल बुलाकर शिक्षक नदारद, कलेक्टर ने किया निलंबित
X

कांकेर। लॉकडाउन के दौरान राज्य सरकार ने 3 एवं 4 अप्रैल को मध्यान्ह भोजन के लिए बच्चों को सूखा राशन घर-घर जाकर देने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में सूखा राशन बांटने के लिए छात्र-छात्राओं को विद्यालय बुलाकर खुद अनुपस्थित रहने पर शिक्षक को निलंबित कर दिया गया है।

राज्य शासन के निर्देशानुसार प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को घर-घर जाकर 3 एवं 4 अप्रैल को मध्यान्ह भोजन के सूखा राशन का वितरण करने के निर्देश प्रसारित किये गये हैं, लेकिन अंतागढ़ विकासखण्ड के पूर्व माध्यमिक शाला बडेपिंजोडी में मध्यान्ह भोजन के प्रभारी शिक्षक (एलबी) परदेशा राम मण्डावी ने 2 अप्रैल को मध्यान्ह भोजन का सूखा राशन वितरित करने के लिए छात्र-छात्राओं को विद्यालय बुलाया और स्वयं अनुपस्थित रहे।

कोरोना वायरस से बचाव के लिए शासन द्वारा दिये गये निर्देशों का पालन नहीं करने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर ने शिक्षक (एलबी) परदेशी राम मण्डावी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। निलंबन अवधि में उनका मुख्यालय खण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय अंतागढ़ नियत किया गया है, इस अवधि में उन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता की पात्रता होगी।

Next Story