Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

प्रदेश के सार्वजनिक बैंकों की आज हड़ताल, लेकिन SBI ग्राहकों के लिए कोई टेंशन नहीं

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Public Sector Banks) के विलय और जमा राशि पर ब्याज (Interest) दर घटने के विरोध में मंगलवार को देशभर के ज्यादातर बैंकों में दो यूनियन (Bank Unions) से जुड़े कर्मचारी हड़ताल (Banks Strike) पर रहेंगे।

FILE PHOTOFILE PHOTO

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Public Sector Banks) के विलय और जमा राशि पर ब्याज (Interest) दर घटने के विरोध में मंगलवार को देशभर के ज्यादातर बैंकों में दो यूनियन (Bank Unions) से जुड़े कर्मचारी हड़ताल (Banks Strike) पर रहेंगे। इसके अलावा दिवाली की छुट्टियों के चलते भी बैंक लगातार चार दिन बंद रहेंगे। वहीं बैंको (Banks) की इस हड़ताल (Strike) का असर छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में काफी देखने को मिलने वाला है। कर्मचारी संगठनों की इस घोषणा से त्योहारी सीजन में बैंकिग कामकाज पर असर पड़ने की संभावना है। ऐसे में आम जनता और व्यापारियों को काफी दिक्कतें हो सकती हैं। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) सहित ज्यादातर बैंकों ने अपने ग्राहकों को इस संबंध में पहले ही सूचित कर दिया है। हालांकि भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने कहा है कि उनके यहां पर हड़ताल का असर नहीं पड़ेगा।

इस वजह से है हड़ताल

सार्वजनिक क्षेत्र के कई बैंकों के विलय और जमा राशि पर दरों में गिरावट के विरोध में यूनियनों ने एक दिन की हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। हड़ताल का आह्वान आल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (AIEBEA) तथा बैंक एम्पलाइज फेडरेशन आफ इंडिया (BEFAI) ने किया है।

इन संगठनों ने बुलाई हड़ताल

ऑल इंडिया बैंक इंप्लाई यूनियन (AIEBEA) और बैंक इंप्लाई फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFAI) ने हड़ताल बुलाई है। बैंकों के प्रस्तावित विलय और जमा पर गिरती ब्याज दरों का विरोध करने के लिए यह हड़ताल होगी। हालांकि भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने बयान जारी करते हुए कहा है कि उनके यहां पर इस हड़ताल का असर देखने को नहीं मिलेगा। बैंक ऑफ बड़ौदा (BOI), बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank Of Maharashtra) और सिंडिकेट बैंक (Syndicate Bank) जैसे तमाम सरकारी बैंकों में इस हड़ताल का असर देखने को मिलेगा, क्योंकि इन बैंकों में ये दो यूनियन से जुड़े कर्मचारियों की संख्या ज्यादा है।

दिवाली पर चार दिन बैंक बंद

हड़ताल के बाद दिवाली पर चार दिन बैंक बंद रहेंगे। शनिवार 26 अक्तूबर को महीने का चौथा शनिवार है। रविवार को बैंक वैसे ही बंद रहते हैं। इसके बाद सोमवार 28 अक्तूबर को गोर्वधन पूजा के दिन और मंगलवार 29 अक्तूबर को भाई दौज के दौरान भी कई राज्यों में बैंक बंद रह सकते हैं। बैंकों की विलय प्रक्रिया के खिलाफ ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स कन्फेडरेशन ने कहा था कि हम सरकार के विलय के कदमों का विरोध करते हैं।

ATM और चेक क्लियरिंग में होगी परेशानी

बैंकों के बंद रहने से एटीएम से धन निकासी भी प्रभावित हो सकती है। एटीएम में दो दिन के लिए रिजर्व कैश होता है, लेकिन इसके बाद नकद निकासी में परेशानी आ सकती है। इसी तरह, चेक क्लीयर होने में भी समय लग सकता हैं।


Next Story
Hari bhoomi
Share it
Top