logo
Breaking

राजकीय पशु वन भैंसे की संदिग्ध मौत, शरीर पर मिले जख्म के निशान

एक और वन भैंसा विलुप्ति के कगार में हैं वहीं दूसरी तरफ ​जिले में राजकीय पुश वन भैंसा की संदिग्ध मौत के बाद ग्रामीणों में आक्रोश है। उदंती सीतानदी टाइगर प्रोजेक्ट के उपसंचालक बी विवेकानंद रेड्डी ने पुष्टि करते हुए बताया कि वन भैंसे के पेट पर जख्म के निशान मिले हैं।

राजकीय पशु वन भैंसे की संदिग्ध मौत, शरीर पर मिले जख्म के निशान

एक और वन भैंसा विलुप्ति के कगार में हैं वहीं दूसरी तरफ ​जिले में राजकीय पुश वन भैंसा की संदिग्ध मौत के बाद ग्रामीणों में आक्रोश है। उदंती सीतानदी टाइगर प्रोजेक्ट के उपसंचालक बी विवेकानंद रेड्डी ने पुष्टि करते हुए बताया कि वन भैंसे के पेट पर जख्म के निशान मिले हैं।

मैनपुर से 8 किलोमीटर दूर बरदूला गांव के खेत में एक श्यामू नाम के वन भैंसे का शव मिला है। श्यामू बीते कुछ दिनों से मैनपुर के आसपास चक्कर लगा रहा था। श्यामू के पेट में जख्म के निशान मिलें हैं, जिससे किसी आमानवीय घटना का अंदाजा लगाया जा रहा है। वहीं ग्रामीणों ने भी वन विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया है।
बता दें दुर्लभ वन भैंसे उदंती क्षेत्र में सीतानदी अभ्यारण में केवल 11 ही बचे हैं जिसे लेकर राज्य शासन काफी चिंतित है। 2 साल पहले वन भैसों को बचाने के लिए उनके शरीर में कॉलर आईडी लगाई गई थी। इन कॉलर आईडी के जरिए भैसों पर निगरानी रखी जाती है। इससे पहले भी सीतानदी टाइगर रिजर्व में एक वन भैसें को तीर लगने का मामला सामने आया था।
Share it
Top